Home > Archived > आवारा गायों के लिए पुरानी खडग़ मवेशी को शीघ्र करें चालू

आवारा गायों के लिए पुरानी खडग़ मवेशी को शीघ्र करें चालू

गौरी किनारे स्थित मन्दिरों को प्रशासन शीघ्र कराए अतिक्रमण मुक्त: भारतीय पंचायत संघ

भिण्ड। जिले में स्थित ऐतिहासिक स्थल गौरी सरोवर को जिसके आस-पास एक सैकड़ा से अधिक देवालय मन्दिर स्थित हैं। जिन मन्दिरों पर कई लोगों ने कब्जे कर रखे है तथा गौरी का अस्तित्व समाप्त होता नजर आ रहा है और वहीं नजदीक में सरोवर के पास मांस का कारोबार चल रहा है। जिसको आज तक भिण्ड का जिला प्रशासन हटाने में नाकाम रहा है तथा कई मन्दिरों पर लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है और जिले का प्रशासन मूक होकर तमाशाबीन बना हुआ है। उक्त बयान प्रेस को जारी विज्ञप्ति में भारतीय पंचायत संघ के राष्ट्रीय सचिव हरवीर सिंह कुशवाह ने दिया।
कुशवाह ने बताया कि भिण्ड जिले में ही नहीं बल्कि संपूर्ण मप्र में आवारा गायें हजारों की संख्या में सड़कों पर दर-दर भटक रही हैं।

भिण्ड जिले में पुराने किले के पास स्थित आवारा गायों के लिए खडग़ मवेशी को आज तक भिण्ड का नगर पालिका प्रशासन चालू नहीं करा पाई है। पूर्व में नगर पालिका प्रशासन द्वारा खडग़ मवेशी को चालू कराने एवं गौरी सरोवर के पास स्थित मीट मण्डी को शहर से वाहर अन्यत्र स्थान पर स्थापित करने का प्रस्ताव भी पारित हुआ था। लेकिन जिला प्रशासन और नगर पालिका प्रशासन की उदासीनता के चलते आज कई वर्ष बीत चुके हैं। लेकिन मीट मंडी को न ही हटाया गया और ना ही खडग़ मवेशी को चालू किया गया और न ही गौरी सरोवर के किनारे मन्दिरों को अतिक्रमण मुक्त किया गया। उन्हों ने कहा कि शीघ्र ही एक माह के अंदर मीट मंडी को गौरी सरोवर से हटाया जाए।

आवारा गायों की सुरक्षा हेतु वर्षों से बंद पड़ी खडग़ मवेशी को चालू कराया जाए। भारतीय पंचायत संघ भिण्ड शहर की नहीं बल्कि संपूर्ण मप्र में 20 मार्च से संगठन निर्माण का कार्य प्रारंभ कर रही है। संगठन आने वाले समय में पूरे प्रदेश में जनजागरण यात्रा निकालेगी और जनहित की समस्याओं को प्रशासन के सामने लाने का कार्य करेगा।

Updated : 2016-03-03T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top