Home > Archived > फाग सुन झूम उठे श्रोता

फाग सुन झूम उठे श्रोता

कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष कार्यालय पर मना फाग महोत्सव

दतिया। होली के पावन पर्व पर बुन्देली फाग का अपना एक रंग है। फाग कलाकारों द्वारा जब बुंदेली भाषा में महाभारत, रामायण के प्रसंगों पर तथा वीरता रस पर अपनी बात कहते हैं तो उपस्थित जनसमूह का उत्साह दोगुना हो जाता है। कुछ ऐसा ही नजारा शनिवार दोपहर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मुरारी लाल गुप्ता के निवास राजगढ़ चौराह पर होली मिलन तथा फाग कार्यक्रम के दौरान यही देखने को मिला।

जब ग्राम क्षेत्रों से आए फाग कलाकारों ने महाभारत में कृष्ण और अर्जुन के बीच हुए संवाद तथा अला-उदल की वीरता को बुन्देली भाषा में गाया तो उपस्थित जनसमूह झूम उठा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व गृहमंत्री महेन्द्र बौद्ध तथा पूर्व विधायक कुंवर घनश्याम सिंह थे। अध्यक्षता चंदन सिंह बाबू जी ने की। विशेष अतिथि के रूप में डॉ सरनाम सिंह राजपूत, दाऊ हुकुम ंिसंह यादव, रामस्वरूप दांगी, ठाकुरदास, रामबहादुर सिंह गुर्जर, श्रीराम शर्मा उपस्थित रहे। कार्यक्रम में नवनियुक्त पदाधिकारियों सिरोमन सिंह यादव, कमलेश पाठक, बीएल केन तथा खुमान सिंह बैचेन का सम्मान किया गया।
कार्यक्रम का संचालन युवक कांग्रेस नेता विष्णु प्रताप सिंह गुर्जर ने किया। इस अवसर पर कुंवर घनश्याम सिंह ने कहा कि होली उत्साह का त्यौहार है। यह एक दो दिन का त्यौहार नहीं है। यह त्योहार पूरे फाल्गुन माह में मनाया जाता है। प्रेम तथा भाईचारे का यह त्योहार हमें जहां एकता का सूत्र देता है वही दूसरी ओर खुशियां और आंनद भी देता है। वहीं जिला उपाध्यक्ष मुरारी लाल गुप्ता ने कहा कि होली का पर्व मौज-मस्ती का पर्व है। देशभर में होली के कई रंग है। लेकिन बुन्देलखंडी होली का भी अपना एक अलग रंग है। बुन्देलखंड में फागों के बिना होली अधूरी है। जब तक फागों की मस्ती न हो जब तक होली का रंग बेरंग सा दिखता है। होली मिलन व फाग उत्सव में ग्राम औरीना के कलाकार छोटेलाल मास्टर, वनमाली, मुलायम परिहार, ग्याप्रसाद, अंतर सिंह, इमरत, मनीराम, अरविन्द, राजकुमार, राजेन्द्र परमार, महेन्द्र परमार, गौरीशंकर चौधरी, मनोज श्रीवास्तव, रोहन दास, मोनू श्रीवास्तव, प्रेमनारायण पाल सहित बडी संख्या में जनसूमह उपस्थित था।

Updated : 2016-03-27T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top