Top
Home > Archived > नेत्र हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग-हरिबोल महाराज

नेत्र हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग-हरिबोल महाराज

कल्याणं करोति और राधे-राधे परिवार द्वारा आयोजित नेत्र शिविर सम्पन्न

मथुरा। नेत्र हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है इसके बिना सारा संसार अंधकार मय हो जाता है। कल्याणं करोति अनेक वर्षो से नेत्रदान के कार्य में लगी है। यह बुर्जग व्यक्तियों की सेवा का यज्ञ है जब शरीर शिथिल होने लगता है तब नेत्र ज्योति भी क्षीर्ण हो जाती है। अधिकांश परिवारों में बुर्जग व्यक्ति अपने आप को उपेक्षित अनुभव करते हैं तब कल्याणं करोति जैसी संस्थाऐं सहयोग के लिए हाथ आगे बढ़ाती है।

यह विचार स्वामी हरिबोल महाराज ने स्व0 आरसी गुप्ता (राधे-राधे) व स्व0 विठ्ठल नाथ गुप्ता की पुण्य स्मृति में सुरूचि फूड्स प्रालि दौताना गुप्ता परिवार (राधे-राधे) दिल्ली के सौजन्य से कल्याणं करोति द्वारा आयोजित नि:शुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर के समापन समारोह के अवसर पर श्रीजी बाबा चिकित्सा संस्थान के प्रांगण में व्यक्त किये।
गजेन्द्र शर्मा ने कहा कि मानव जीवन वही धन्य है जो पीडि़त साधन हीन की सेवा में लगता है। अगर जीवन में साधना करते रहे सेवा कार्य न करें तो वह जीवन अधूरा रह जाता है। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चेतन मलिक ने कहा कि मैं कल्याणं करोति से पहले से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे शिविर के समापन समारोह में आने का अवसर मिला। मैं यहां आकर अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ तथा ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि कल्याणं करोति और अधिक से अधिक सेवा के कार्य करें।

कृष्ण मुरारी खण्डेलवाल ने कहा कि नेत्र रोगियों की सेवा का जो सुख है वह बड़े भागी ही उठा सकते हैं। जिन लोगों को रोशनी मिली है, उनका दिया हुआ आशर्वाद खाली नहीं जायेगा। जो लोग इस कार्य में लगे है। उनकी दिन रोज प्रगति होगी ऐसा मेरा विश्वास है। सभासद वैभव अग्रवाल ने संस्था के कार्यों की प्रशंसा की। संस्था महासचिव सुनील कुमार शर्मा ने शिविर की समीक्षा करते हुए बताया कि नि:शुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर में दूर दराज के अंचलों से आये 756 नेत्र रोगियों ने पंजीकरण कराकर परीक्षण कराया जिसमें से 226 नेत्र रोगियों के ऑपरेशन डॉ0 रिक्की मित्तल डीओएमएस एवं डॉ0 प्रतिभा बंसल एमएस की टीम द्वारा सम्पन्न किये गये नेत्र रोगियों को पलंग, बिस्तर, चश्मे, भोजन, दवा आदि की व्यवस्था पूर्णत: नि:शुल्क रुप से की गयी थी। इस अवसर पर एनके गर्ग, रसिक बल्लभ, बीके शुक्ला, आरके वर्मा, राम सनेही, मनोज महोलिया आदि विशिष्ट जनों की उपस्थिति उल्लेखनीय थी।

Updated : 2016-03-10T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top