Top
Home > Archived > हनुमंथप्पा की शहादत को किया नमन

हनुमंथप्पा की शहादत को किया नमन

अलीगढ़। देश की सीमा पर जान की बाजी लगाकर जो रात दिन ड्यूटी नही बल्कि अपना कर्तव्य समझकर जो निर्वहन करते है। ऐसे भारत मां के लालों को कोटि-कोटि बधाई और उनकी माताओं को भी बधाई है। जो उन्होंने देश की रक्षा के लिए वीर सपूतों को जन्म देकर वहां भेजा है।
हाल ही में नवनिर्वाचित लोधा ब्लाक प्रमुख व वरिष्ठ समाजसेवी गिरीश यादव का कहना है कि जो 44 घंटों तक हमुमंतथप्पा की शहादत को नमन करते हुये ईश्वर से यह प्रार्थना करता हूं। ईश्वर इस जाबांज की आत्मा को शांति तथा परिवार को इस असहनीय दुख को सहने की शक्ति प्रदान करें। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व समाजसेेवी ठा. श्यौराज सिंह का कहना है कि ऐसे बहादुर रण बाकुंरों के बल पर ही आज देश आजाद और स्वतंत्र है। उनके हौसले को नमन करते है।
जिन्होंने इतना लम्बा समय बर्फ में बिताया उन माताओं के दिये हुये संस्कार ही है जो देश के प्रति सच्ची ईमानदारी दिखाकर आज वो दुनिया से अलविदा हो गये।
ऐसी दुख ंघड़ी उनके परिवार को ईश्वर सहने की शक्ति दे और भारत देश की प्रत्येक मातायें अपने घर ऐसे वीर सपूतों को जन्मे जो देश की रक्षा के काम में आ सके।
अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के मण्डल अध्यक्ष ठा. कमल प्रताप सिंह का कहना है कि इन भारत मां के लाड़लों को तो नमन है ही पर उनकी माता और पत्नियों का भी साहस और हौसला देखिये। देश की खातिर माताओं ने अपने लालों को जहां भेजा वहीं पत्नियों ने भी सुहाग की बगैर परवाह किये देश की रक्षा में जो अपना योगदान दिये है वह भी सराहनीय है ईश्वर उनकी आत्मा को शांति तथा परिवार को दुख की घड़ी में सहने की शक्ति दे।

Updated : 2016-02-12T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top