Top
Home > Archived > हियुवा ने भगवा यात्रा निकाल गौरक्षा का लिया संकल्प

हियुवा ने भगवा यात्रा निकाल गौरक्षा का लिया संकल्प

कत्लखाने की नहीं, गौशालाओं की जरुरत है : अरविंद वर्मा

झांसी। हिन्दू युवा वाहिनी के सहप्रभारी अरविंद वर्मा के नेतृत्व में हजारों कार्यकर्ताओं के साथ गऊ रक्षा की पुकार करते विशाल भगवा यात्रा निकालकर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। सर्वप्रथम महारानी लक्ष्मीबाई पार्क स्थित वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए, तदपुरांत हाथों में गऊ रक्षा की पुकार, सिलाटर हाऊस के विरोध में, भ्रूण हत्या, संतोष हत्या एवं हाल ही में महापौर के साथ हुई अभद्रता के विरोध में तख्तियां लेकर चल रहे थे।

भगवा ध्वजों के बीच हाथ में गऊ माता की मूर्ति लिये हुए अरविंद वर्मा नेे कहा कि इस अवसर पर गऊ माता ने हिन्दुओं में जान बसती है। आज हमने इसे अपने परिवार से अलग कर दिया है यही कारण है कि आज गऊ की दुर्दशा हो रही है। बड़े अफसोस की बात है कि हम हिन्दू वादी नेता शासन प्रशासन से गाय की रक्षा के लिए गौशाला खोले जाने की मांग करते हैं, लेकिन इसके विपरीत गौशाला के स्थान पर सिलाटर हाऊस खोले जाने की अनुमति दे दी जाती है। जिलाधिकारी को सौंपे पांच सूत्रीय ज्ञापन के माध्यम से कन्या भ्रूण हत्या पर पूर्णतय प्रतिबंध लगाने की बात करते हुए अरविंद वर्मा ने कहा कि एक ओर शासन प्रशासन भ्रूण हत्या रोके जाने के लिए बेटी-बचाो, बेटी पढ़ाओ अभियान युद्ध स्तर पर चला रही है वहीं कुछ चिकित्सक अपनी निजी स्वार्थ के चलते बेटियों को भ्रूण में मारने का काम कर रहे हैं। ऐसे हत्यारे चिकित्सकों को चिन्हित करें उन्हें सख्त सजा दी जाना चाहिए। कानून व्यवस्था पर अंगुली उठाते हुए उन्होंने कहा कि विगत ढाई माह पूर्व संतोष वर्मा की हत्या की गई लेकिन आज तक इस प्रकरण में पुलिस ने किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की, क्योंकि विपक्षी दबंग और रसूकदार है जब यदि कानून सबके लिए समान है तो फिर ऐसे लोग क्यों बचे हुए हैं। उन्होंने हाल ही में महापौर किरण वर्मा के साथ हुई घटना पर अफसोस जताते हुए कहा कि दबंग ठेकेदारों द्वारा जिले की पहली नागरिक समझे जाने वाली महिला के खिलाफ सरेआम अभद्रता कर जता दिया है कि उन्हें कानून का कोई डर नहीं है। अरविंद वर्मा ने किरण वर्मा को कोरी समाज का गौरव बताते हुए कहा कि उन्होंने इस समाज का एक नाम देने का प्रयास किया, लेकिन दबंग लोगों को रास नहीं आया एवं उन्होंने बदले की भावना से कार्यवाही को अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि शासन प्रशासन को चाहिए कि वह ऐसे दबंग ठेकेदार के खिलाफ सख्त कार्यवाही अमल लाये जोकि महापौर जैसी शख्सियत के खिलाफ घटनाओं को अंजाम देने में गुरेज न करते हों।

इस मौके पर शिवसेना बुन्देलखण्ड प्रमुख संतोष खटीक, महानगर प्रमुख कंचन वर्मा, महानगर संयोजक सुनील पांडेय, अध्यक्ष आजाद भूपेंद्र सिंह कुशवाहा, महामंत्री अंकित पटेल, जिला प्रभारी नरेंद्र जाटव, गौरक्षा प्रमुख सोनू ठाकुर, बजरंग दल प्रमुख अनूप करौसिया, सहसंयोजक अवतार खटीक, उपाध्यक्ष शुभम वाल्मीकि, सहसंयोजक निशांत कुशवाहा, हर्ष मेहेर, राजेंद्र सोनी, महेंद्र वर्मा, प्रवीण दयाल, कपिल वर्मा, जिमी कुशवाहा, अंकित वर्मा, अंकुर वर्मा, शानू कुशवाहा, रोहित वर्मा, निक्की, हरिप्रकाश आर्या, रामवीर शर्मा, राहुल कुशवाहा, सुनील राजपूत, जयदीप परिहार, रणधीर सिंह, रवि मिश्रा आदि मौजूद रहे।

Updated : 2016-12-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top