Latest News
Home > Archived > भारत पर हमला करने को नियंत्रण रेखा पार करने वाले आतंकी 1 करोड़ देता है पाक

भारत पर हमला करने को नियंत्रण रेखा पार करने वाले आतंकी 1 करोड़ देता है पाक

भारत पर हमला करने को नियंत्रण रेखा पार करने वाले आतंकी 1 करोड़ देता है पाक
X

जम्‍मू| सीमा पर आतंकी घुसपैठ को लेकर पाकिस्‍तान एक बार फिर बेनकाब हुआ है। बता दें कि पाकिस्‍तान आए दिन सीमा पार से कश्मीर में आतंकी घुसपैठ की कोशिशें करता रहता है। पाकिस्तान की सरपरस्ती में पलने वाले इन आतंकियों को लेकर अब एक बार फिर खुलासा हुआ है, जिससे पाकिस्‍तान का नया 'टेरर प्‍लान' सामने आया है। किराये के आतंकियों से भारत में दहशत फैलाने की साजिश रची जा रही है।

पाकिस्तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) में स्थित एक संगठन ने इस बात का खुलासा किया है कि पाकिस्तान नियंत्रण रेखा (एलओसी) पार करने वाले हर आतंकवादी को एक करोड़ रुपये और हथियार देता है। इससे साफ है कि पीओके में प्रतिबंधित आतंकी संगठनों को खुली छूट पाक सरकार की ओर से मिली है और किराये के आतंकियों को सीमा पार भेजने में पाक पूरी तरह शामिल है।

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के मुजफ्फराबाद में एक बार फिर से लोगों ने पाकिस्तान की नापाक हरकतों के खिलाफ लामबंद होकर उसके खिलाफ नारेबाजी की है।

फोरम के नेता ने पाकिस्तान को दुनिया में आतंकवाद फैलाने से बाज आने की हिदायत दी है। उन्होंने पीओके में चल रहे आतंकवादियों के कैंपों को खत्म करने को भी कहा है। सरदार रईस ने कहा कि पाकिस्तान पर भाड़े के हत्यारों को भेज रहा है। पाकिस्तान सरकार और सेना भारत में सीमा पार करने वाले आतंकियों को एक करोड़ रुपये देती है। इसके अलावा उन्हें भारत में दहशत फैलाने के लिए सभी तरह का असलहा भी मुहैया करवाती है।

उन्होंने पीओके में एक जनसभा में संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तान में प्रतिबंधित आतंकी संगठन भी खुलेआम घूमकर अपने काम को अंजाम देते हैं। उन्हें यहां पर कुछ भी करने की खुली छूट है। वह एलओसी पर जाकर खूनी खेल को अंजाम देते हैं। उन्होंने पाकिस्तान सरकार से इन सभी संगठनों पर प्रतिबंध लगाने की भी मांग की है।

पीओके में पाकिस्तान के खिलाफ पहले भी आवाजें उठती रही हैं। कई बार यहां के स्थानीय लोगों ने यहां पर चल रहे आतंकी कैंपों को खत्म करने के लिए आवाज उठाई है। लेकिन पाकिस्तान इन्हें खत्म करने की बजाय इनको बढ़ावा देने में लगा हुआ है। स्थानीय नेताओं ने पहले भी इसके खिलाफ और पाकिस्तान सेना की ज्यादतियों के खिलाफ आवाज बुलंद की है। गौर हो कि मुजफ्फराबाद समेत सीमा से सटे कई इलाकों में पाकिस्‍तान के सहयोग से जैश ए मोहम्‍मद, लश्कर ए तोएबा समेत अन्य आतंकी संगठनों के आतंकियों को ट्रेनिंग दी जाती है।

Updated : 2016-12-12T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top