Home > Archived > भागवत कथा सुनने से मिलता है सारे तीर्थों का लाभ : नारायण ब्रह्मचारी

भागवत कथा सुनने से मिलता है सारे तीर्थों का लाभ : नारायण ब्रह्मचारी

झांसी। भागवत कथा के प्रथम दिन राघवेन्द्र सिंह भदौरिया व हेतराम रामायणी ने कथा व्यास को माला व शॉल ओढ़ाकर उनका स्वागत किया।

इस मौके पर मदनमुरारी तिवारी मुख्य यजमान ने भागवत पुराण का आरती पूजन किया एवं धर्मेन्द्र भदौरिया, जगदीश दांगी, मोहनलाल साहू, उमंग साहू, कैलाश साहू, आयुष कुशवाहा, राजकुमार गुप्ता, राधेश्याम प्रधान, बालकृष्ण दुबे, सोहनलाल साहू आदि मौजूद रहे।

संत की बगिया में भागवत कथा के प्रथम दिन व्यास जी की गद्दी पर आसीन कथा व्यास नारायण ब्रह्मचारी (बालशुक) ने भागवत पुराण की अपने स्वरों संगीतमय कथा की गंगा बहायी। कथा व्यास श्रीनारायण जी ने भागवत पुराण का महत्व बताते हुए कहा कि भागवत पुराण सुनने से सारे पाप नष्ट हो जाते हैं एवं सारे तीर्थों का लाभ कथा सुनने से मिलता है।

भागवत लीला का वर्णन सुनाते हुये कहा कि श्री हरि भागवत रुप में है और कथा के स्वर जिस व्यक्ति के कानों तक पहुुंचते हैं, इसके सुनने से बैकुंठ धाम की प्राप्ति होती है। उन्होने बताया कि भागवत कथा में सारे देवी-देवता मौजूद हैं। कथा के प्रथम दिन भागवत लीलाओं की कथा को सुन श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए। आभार शिवलाल केवट ने व्यक्त किया।

Updated : 2016-11-23T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top