Home > Archived > पिता की दरिंदगी का शिकार हुई किशोरी ने दम तोड़ा

पिता की दरिंदगी का शिकार हुई किशोरी ने दम तोड़ा

दुराचार में असफल रहने पर बेटी को जलाया

मथुरा। छाता के ग्राम तरौली सुमाली में पिता की दरिंदगी का शिकार हुई 15 वर्षीया मासूम बेटी जिंदगी की जंग हार गई। चंद घंटे उपचार के बाद उसने जिला चिकित्सालय में दम तोड़ दिया। किशोरी लगभग 95 प्रशित जली थी।

पिता की हैवानियत का शिकार बनी बेटी की यह दिल दहला देने वाली घटना कोतवाली छाता के ग्राम तरौली सुमाली की है। बताया जाता है शनिवार सायं यहां रहने वाले बंगाली ने अपनी 15 वर्षीया पुत्री राधा को मिट्टी का तेल डालकर जला दिया और खुद खडा हो गया। ग्रामीणों ने उसे हटाकर आनन-फानन में जली किशोरी को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत बेहद नाजुक थी। किशोरी को 95 प्रतिशत जली अवस्था में चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था।

करीब 15 घंटे उपचार के बाद राधा जिंदगी की जंग हार गई। रविवार पूर्वान्ह में उसने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। राधा की बहन गुडिय़ा व सपना ने बताया कि उसका पिता बंगाली राधा के साथ दुष्कर्म करना चाहता था। अपने मंसूबों में कामयाब न होने पर उसने राधा को मिट्टी का तेल डालकर जला दिया। बहनों ने बताया कि पिता बंगाली ने ऐसे ही उनकी माँ को भी मौत के घाट उतार दिया था, फिलहाल वह जमानत पर चल रहा था।

किशोरी की मौत के बाद पुलिस ने शव कब्जे में कर पोस्टमार्टम गृह भिजवाया है। इस संबंध में गांव के ही राधाकृष्ण पुत्र गंगा सिंह ने बंगाली के खिलाफ पुत्री को जान से मारने के प्रयास का मामला दर्ज कराया है। पुलिस के मुताबिक मामला दर्ज कर लिया गया है। बेटे व बेटियों के बयान को जांच में शामिल किया जायेगा। आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

Updated : 2016-11-21T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top