Home > Archived > मंडल वाणिज्य प्रबंधक ने वेंडर से वसूला जुर्माना

मंडल वाणिज्य प्रबंधक ने वेंडर से वसूला जुर्माना

मेले में लगी प्रदर्शनी का किया अवलोकन

ग्वालियर। रेलवे द्वारा ग्वालियर व्यापार मेले में लगाई गई प्रदर्शनी का उद्घाटन मंडल प्रबंधक द्वारा किया जाना है। इससे पहले मंगलवार को दोपहर में मंडल वाणिज्य प्रबंधक गिरीश कंचन ने मेला परिसर में लगी इस प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इससे पहले श्री कंचन ने रेलवे स्टेशन पर टे्रन में पेठा बेच रहे एक वेंडर को पकड़कर उससे जुर्माना वसूलने की कार्रवाई भी की।
जानकारी के अनुसार रेलवे द्वारा प्रतिवर्ष मेला में प्रदर्शनी लगाई जाती है, साथ ही बाल रेल भी संचालित की जाती है, लेकिन पिछले वर्ष हुए हादसे के कारण झांसी मंडल द्वारा इस वर्ष मेले में बाल रेल संचालित नहीं की गई है। मंडल के आदेश पर स्थानीय प्रबंधन ने इस बार केवल प्रदर्शनी का आयोजन किया है, जिसका उद्घाटन संभवत: बुधवार को मंडल प्रबंधक एस.के. अग्रवाल करेंगे। उद्घाटन से पहले प्रदर्शनी का जायजा लेने के लिए मंडल वाणिज्य प्रबंध गिरीश कंचन मेला पहुंचे। उन्होंने बताया कि आगामी एक-दो दिन में ही मंडल प्रबंधक प्रदर्शनी का उद्घाटन करने आ सकते हैं।
वैध वेंडर होने पर भी की कार्रवाई
मंडल वाणिज्य प्रबंधक का रेलवे स्टेशन पर जब अवैध वेंडरों पर जोर नहीं चला तो उन्होंने एक वेध वेंडर से पेठा का मूल्य पूछा। इस पर उसने पेठा का मूल्य 100 रुपय किलो बताया। इसके बाद उन्होंने वहां खड़े टीसी को आदेश देते हुए उक्त वेंडर के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा। इस दौरान उक्त वेंडर से जब स्वास्थ्य कार्ड मांगा गया तो उसने स्वास्थ्य व आरडी शर्मा फर्म का कार्ड भी दिखा दिया।
वेंडर का कहना था कि वह वर्दी में है और वैच भी लगाए हुए है तो कार्रवाई किस लिए की की जा रही है, लेकिन उसकी सुनवाई न करते हुए उसे दो घण्टे कॉमर्शियल कार्यालय में बैठाकर रखा गया। उसके बाद पेठा को जब्त कर जुर्माना वसूल करने के बाद छोड़ दिया। इस पर श्री कंचन का कहना था कि वेंडर को ट्रेन पर सामान बेचने की अनुमति नहीं है। वह अपने स्टॉल पर ही सामान बेच सकता है। इस कारण ही उससे जुर्माना वसूला गया है।
स्टेशन पर अवैध वेंडरों की भरमार
रेलवे स्टेशन पर पहुंचने वाली रेलगाडिय़ों में अवैध रूप से सामान बेचने वाले वेंडरों की भरमार है, लेकिन उन पर न तो झांसी मंडल अंकुश लगा पा रहा है और न ही स्थानीय प्रबंधन कोई ठोस कदम उठा पा रहा है।
केवल नाम के लिए अधिकारी कार्रवाई करके अपने कर्तव्य की इतिश्री कर लेते हैं, जबकि पिछले सप्ताह ही अवैध वेंडरों ने कमशम के प्रबंधक के साथ जमकर मारपीट कर उन्हें तीन व चार नम्बर प्लेटफार्म पर आने वाली रेलगाडिय़ों में खाने की आपूर्ति करने से रोकते हुए खाने के पैकट भी लूट लिए थे, लेकिन अभी तक रेलवे सुरक्षा बल इन अवैध वेंडरों को नहीं पकड़ सका है।

Updated : 2016-01-13T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top