Top
Home > Archived > हड़ताल के दौरान जबरिया बंद कराई गईं सिटी बसें

हड़ताल के दौरान जबरिया बंद कराई गईं सिटी बसें

भोपाल। देश के सभी केंद्रीय श्रमिक संगठनों यानी ट्रेड यूनियनों व कर्मचारी संगठनों इंटक, एटक, सीटू, एचएमएस, समेत के आह्वान पर बुधवार को राष्ट्रव्यापी हड़ताल के दौरान बैंक पोस्ट ऑफिस, बीएसएनएल व इनकम टैक्स संबंधी काम काज ठप रहा। शहर में कई जगह से रैली निकाली गई।
इस दौरान बैंकों के कर्मचारियों ने एमपी नगर से रैली निकाली। दैनिक वेतन भोगी व राज्य कर्मचारियों ने सेकंड स्टाप स्थित अंबेडकर मैदान से रैली निकालकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। हड़ताल की वजह से बुधवार को बैंकिंग, बीमा, ट्रांसपोर्ट, डाक आदि सेवाएं प्रभावित रही। 10 प्रमुख मजदूर संगठनों ने हड़ताल का आह्वान किया। गौरतलब है कि इन संगठनों से लगभग 15 करोड़ मजदूर जुड़े हैं। इन्होंने निजी क्षेत्र के कर्मचारियों से समर्थन का भी दावा किया है। हालांकि रेलवे को इस हड़ताल से बाहर रखा गया है। बुधवार को ये मजदूर संगठन अपनी मांगों को लेकर राजधानी की सड़क पर उतरे और सुबह-सुबह चल रही कई सिटी बसें बंद करवाईं।

कर्मचारियों की ये हैं प्रमुख मांगें
सातवां वेतनमान 1 अप्रैल 2104 से लागू किया जाए, केंद्रीय कर्मचारियों को सेवा काल में पांच प्रमोशन दिए जाएं, केंद्र व राज्य सरकारों द्वारा श्रम कानूनों में किए गए संशोधन वापस लिए जाएं, श्रम कानूनों पर सख्ती से अमल किया जाए, न्यूनतम वेतन 15 हजार रुपए महीने किया जाए, समान काम समान वेतन दिया जाए, स्थाई काम के लिए स्थाई भर्ती की जाए, ठेकेदार पर रोक लगाई जाए, सामाजिक सुरक्षा दी जाए, रक्षा, बीमा और रेलवे में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश- एफडीआई का निर्णय वापस लिया जाए, प्रस्तावित लैंड बिल के मसौदे में किसान व खेत मजदूर विरोधी बिंदु हटाए जाएं।

Updated : 2015-09-03T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top