Top
Home > Archived > हरेन्द्र के निशाने पर थे पंकज और नितिन

हरेन्द्र के निशाने पर थे पंकज और नितिन

पुलिस ने लिया पांच दिन की हिरासत में
ग्वालियर। गैंगस्टर हरेन्द्र राणा को गुरुवार को न्यायालय में प्रस्तुत कर पुलिस ने उसे और पांच दिन की हिरासत में ले लिया है। पुलिस हरेन्द्र के उस नेटवर्क को ध्वस्त करना चाहती है, जिसे उसने सोनू गौतम के साथ मिलकर जेल में रहते हुए तैयार किया था। पुलिस के अनुसार हरेन्द्र अपने साथियों के साथ मिलकर पंकज भदौरिया और दिल्ली निवासी नितिन कोहली की हत्या करने का षडय़ंत्र रच रहा था।
सूत्रों के अनुसार हरेन्द्र ने पुलिस के सामने स्वीकार किया है कि उसे व सोनू गौतम को टैरर टैक्स व सुपारी के माध्यम से जो भी पैसा मिला, उस पैसे का उपयोग वह अत्याधुनिक हथियार खरीदने और अपनी गैंग को तैयार करने में कर रहा था। उसने यह भी बताया कि उसने लोनी गाजियाबाद के मोहित भारद्वाज की हत्या करने में कार्बाइन गन का उपयोग किया था। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रतिमा मैथ्यू का कहना है कि मथुरा जेल से सोनू गौतम को भी पुलिस अभिरक्षा में बुलवाया जाएगा। सोनू व हरेन्द्र को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की जाएगी। अभी हरेन्द्र अधिकतर मामलों को सोनू के सिर पर मढ़ रहा है।
दिल्ली में है कार्बाइन गन
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मैथ्यू ने बताया कि हरेन्द्र राणा ने पूछताछ में बताया है कि दिल्ली में एक प्रोपर्टी डीलर के पास कार्बाइन गन मौजूद है, जिससे मोहित भारद्वाज की हत्या की गई थी। यह डीलर सोनू गौतम के सम्पर्क में है। पुलिस ने प्रोपर्टी डीलर की तलाश शुरू करने के साथ ही सोनू गौतम को लाने की कवायाद भी शुरू कर दी है।
नितिन व पंकज की हत्या करना चाहता था हरेन्द्र
श्रीमती मैथ्यू ने बताया कि हरेन्द्र अपने साथियों के साथ मिलकर ग्वालियर निवासी पंकज भदौरिया और दिल्ली निवासी नितिन कोहली की हत्या करने का षडय़ंत्र रच रहा था। पंकज भदौरिया अपने भाई बिल्लू की हत्या में मुख्य गवाह है, जिसमें उसकी गवाही होने पर हरेन्द्र के परिजन जेल पहुंच सकते हैं। उधर मोहित भारद्वाज से नितिन कोहली अपनी मां के कत्ल का बदला लेना चाहता था, इसलिए उसने मोहित की हत्या की सुपारी सोनू गौतम व हरेन्द्र राणा को पचास लाख रुपए में दी थी, जिसमें हरेन्द्र ने मोहित को गोली मारी थी और सोनू कार चला रहा था, लेकिन नितिन ने सुपारी की रकम में से केवल दस लाख रुपए ही सोनू को दिए। बकाया रकम देने में वह आना-कानी करने लगा था, इसलिए हरेन्द्र राणा उसकी भी हत्या करने की तैयारी में था।
नितिन व मोहित के बीच ऐसे हुई दुश्मनी
श्री मैथ्यू ने बताया कि सपा नेत्री समी कोहली की बेटी और मोहित के बीच प्रेम सम्बंध दुश्मनी का कारण बना। उन्होंने बताया कि समी कोहली की बहू प्रीति एक गुप्ता जाति के लड़के के साथ भाग गई थी। इस पर समी कोहली ने गुप्ता परिवार के लड़के का अपहरण करा लिया था। इस प्रकरण में समी कोहली को जेल जाना पड़ा था। जेल में ही उसकी मुलाकात सोनू गौतम से हुई थी। उधर मोहित के भाई ने एक विधायक की हत्या कर दी थी। इस पर समी कोहली ने मोहित के भाई की हत्या करा दी थी। इससे नाराज मोहित ने समी को ठिकाने लगा दिया। उधर समी की लड़की व मोहित का प्रेम संबध था। इस कारण समी और उसका लड़का नितिन मोहित को रास्ते से हटाना चाह रहे थे। जब मोहित ने समी को मरवा दिया तो नितिन ने सोनू को सुपारी देकर मोहित को मरवा दिया।

Updated : 2015-08-21T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top