Latest News
Home > Archived > भ्रष्टाचार की संरक्षक हैं जांच एजेंसियां: मिश्रा

भ्रष्टाचार की संरक्षक हैं जांच एजेंसियां: मिश्रा

भोपाल। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता के के मिश्रा ने कहा कि प्रदेश सरकार की जांच एजेंसियां भ्रष्टाचारियों को संरक्षण देने वाली एजेंसी बन चुकी है। उन्होनें जांच एजेंसियों की नियत पर सवाल उठाते हुए कहा कि लोकायुक्त में 18 वर्तमान एवं पूर्व मंत्रियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज हंै। एक मंत्री के खिलाफ भी लोकायुक्त ने कार्यवाही नहीं की है। मिश्रा ने कहा कि इसी तरह डेढ़ दर्जन करीब आईएएस, एक दर्जन आईपीएस और इतने ही आईएफएस अधिकारियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज हंै, लेकिन लोकायुक्त और ईओडब्ल्यू ने कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने कहा कि दोनों जांच एजेंसियों पुलिस, प्रशासन की तरह भ्रष्टाचारियों की सरंक्षक बन गयी है। जिस तरह से पुलिस में अपराधियों को सरंक्षण मिलता है और प्रशासन की मदद से माफिया पनपते हैं। उसी तरह लोकायुक्त और ईओडब्ल्यू की मदद से भ्रष्टाचार हो रहा है। मिश्रा ने कहा कि पंचायत सचिव, पटवारी, बाबू, चपरासी पर कार्रवाई करके लोकायुक्त और ईओडब्ल्यू खुद की पीठ थपथपा रहे हैं, जबकि भ्रष्ट अफसर, मंत्री और नेताओं की शिकायतों को दबा कर रखा है।

Updated : 2015-07-05T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top