Latest News
Home > Archived > भ्रष्टाचार में उलझी जलावर्धन योजना

भ्रष्टाचार में उलझी जलावर्धन योजना

ट्रायल में ही निकले दर्जनभर लीकेज, सड़कों को लगा ग्रहण


डबरा। नगर की पेयजल समस्या के निराकरण के लाई गई जलावर्धन योजना घटिया एवं मापदण्डों के विपरीत हुए कार्यों के कारण नगर की जनता के लिए समस्या बन गई है। भ्रष्टाचारियों के चंगुुल में फंसी यह योजना जनता के लिए नासूर बन गई है। पाइप लाइन के ट्रायल के दौरान ही जहां इसमें एक दर्जन लीकेज सामने आ गए हैं वहीं योजना के कारण नगर की सड़कें भी उखाड़ फेंकी गई हैं।
नगर के पेयजल संकट के निवारण के लिए यूआईएसएसएमडी योजना के तहत नगर में पाईप लाइन सहित पानी की टंकियों एंव फिल्टर प्लांट के निर्माण की स्वीकृत मिली थी। जिसके तहत नगर में भर में पाईप लाइन बिछाए जाने को काम किया गया। काम आरम्भ होने के साथ ही ठेकेदार ने कार्य में तमाम अनियमितताएं बरती तथा निर्धारित मापदण्डों के अनुसार काम नही किया। जिससे पाईप लाइन बिछाने के कार्य के साथ ही तमाम शिकायतें की जाने लगी थी इन शिकायतों को संज्ञान में लेकर तत्कालीन एसडीएम अनुराग चौधरी ने जांच की थी जिसमें तमाम अनियमितताएं पाए जाने के बाद कलेक्टर पी नरहरि ने तीन सदस्यीय जांच दल गठित किया था। जिसमें अनियमितताएं पाए जाने पर सुधार करने के निर्देश दिए गए थेे, जिसमें मापदण्डों के अनुसार काम करने के साथ हर निर्धारित स्थानों के बीच पाइपलाइन डालने के बाद हाइड्रोलिक टेस्ट किये जाने का निर्देश ठेकेदार को दिया गया था। लेकिन ठेकेदार ने जांच दल के निर्देशों की अनदेखी कर एसडीएम अनुराग चौधरी के स्थानांतरण के बाद मनमाने तरीके से काम करते हुए मापदण्डों की अनदेखी कर पाईप लाइन डाली जिससे आज पाईप लाइन लीकेज के समस्या आ रही हैं। मापदण्डों के अनुसार काम न किए जाने से जब पाईप लाइन में पानी छोड़ा जा रहा है। तो पाईप लाइन पानी का दबाव नही झेल पा रही है। जिसके चलते पिछले पन्द्रह दिनों में लगभग एक दर्जन स्थानों पर पाईप लाइन फूट चुकी है। ठाकुर बाबा रोड़ पर तीन जगह, पुराना गाडी अड्डा रोड़ पर तीन जगह, सराफा बाजार , स्टेशन रोड़ हनुमान गंज डांडा सहित अन्य स्थानों पाईप लाइन लीकेज हो चुकी हैं।
नवनिर्मित सड़कें खोदीं
पानी का वितरण सुनिश्चित करने के लिए डाली गई नवीन पाईप लाइन अब जनता के साथ साथ सड़कों के लिए भी नासूर बनती जा रही है। जलावर्धन योजना के तहत पाइप लाइन बिछाने के बाद नगर पालिका ने अनेक स्थानों पर पाईप लाइन की हाइड्रोलिक टेस्ंिटग के बिना ही सीसी सडंको का निमार्ण करवा दिया अब जब पाईपलाइन में पानी छोडा जा रहा है तब यह पाईप लाइन लीकेज हो रही हैं इस लीकेज पाईप लाईन को दुरस्त करने के लिए एक साल पहले बनाई गई सीसी की सड़को को खोदना पड़ रहा हैं जिससे नगर पालिका पर सड़क निमार्ण का अतिरिक्त भार पड़ रहा हैं।

Updated : 2015-06-28T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top