Latest News
Home > Archived > भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय है आपातकाल: मोदी

भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय है आपातकाल: मोदी

भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय है आपातकाल: मोदी
X

नई दिल्ली। भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में काले अध्याय के रूप में दर्ज आपातकालीन के चालीस साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इसे याद किया है। मोदी ने आपातकालीन को काला समय बताते हुए लोकतंत्र की वापसी के लिए संघर्ष को याद किया है। उन्होंने कहा कि तत्कालीन राजनीतिक नेतृत्व ने लोकतंत्र को कुचल दिया था।
प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया कि हमें उन लाखों लोगों पर गर्व है जिन्होंने आपातकाल का विरोध किया और जिनके प्रयासों से हमारे लोकतंत्र का तानाबाना बचा हुआ है। आपातकाल के खिलाफ चले आंदोलन के दौरान लोकतंत्र की वापसी के लिए लड़ रहे नेताओं से सीखने के लिए आपातकाल एक अवसर की तरह था। हम अपने लोकतांत्रिक आदर्शों और चरित्रों को और मजबूत बनाने के हरसंभव कोशिश करें।
मोदी ने नेता जयप्रकाश नारायण का जिक्र करते हुए ट्वीट किया, देश के सबसे काले दौर में से एक- आपातकालीन के चालीस साल पूरे हो गए हैं। उस समय के राजनीतिक नेतृत्व ने हमारे लोकतंत्र को कुचल दिया था। जेपी के आह्वान से प्रेरित होकर देश भर के असंख्य पुरुषों और महिलाओं ने लोकतंत्र को बचाने के आंदोलन में अपने आपको झोंक दिया।
उन्होने कहा कि व्यक्तिगत रूप से आपातकालीन कई पुरानी यादों को जिंदा करती है और बतौर युवा हमने आपातकालीन विरोधी आंदोलन के दौरान काफी कुछ सीखा। गौरतलब है कि कांग्रेस की इंदिरा गांधी सरकार ने 25 जून 1975 को देश में आपातकाल की घोषणा की थी। इसके खिलाफ देशभर में आंदोलन शुरू हो गए थे ।

Updated : 2015-06-25T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top