Latest News
Home > Archived > मच्छरों का प्रकोप बढ़ा, दवाओं का छिडक़ाव नहीं

मच्छरों का प्रकोप बढ़ा, दवाओं का छिडक़ाव नहीं

गुना। गर्मी के दस्तक देते ही जिलेभर में मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है, लेकिन अब तक मच्छरों को नष्ट करने के लिए दवाओं के छिडक़ाव की कार्ययोजना नहीं बनाई गई हैं। स्थिति यह है कि शहर के चारों तरफ मच्छरों आतंक दिखाई दे रहे हैं, मच्छरों से फैल रही संक्रामक बीमारी लोगों को मरीज बनाकर अस्पताल तक पहुंचा रही है। लेकिन संबंधित विभाग का इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जबकि इस मामले में मलेरिया विभाग द्वारा सख्त कदम उठाना चाहिए। लेकिन इस शहरवासियों को कुछ भी नहीं लग रहा है कि उनकी सुरक्षा के प्रति संबंधित विभाग सतर्क है।
वहीं मलेरिया से निपटने की कार्ययोजना भगवान भरोसे ही संचालित हो रही है। ऐसे में मलेरिया से निपटने की तैयारियों पर भी असर पडऩे की संभावना नजर आ रही है। वहीं लगातार मौसम में आ रहे बदलाव के साथ गर्मी के चलते मच्छरों का प्रकोप इतना बढ़ गया है कि लोगों को अपने घरों में तक सुकून नहीं मिल रहा है। जहां देखों वहां मच्छरों दिखाई देते हैं ऐसी स्थिति में अब तक कीटनाशक दवाओं का छिडक़ाव न हो पाने से भी समस्या हो रही है। पिछले वर्ष शहर में मलेरिया के साथ फैली डेंगू की बीमारी से भी विभाग द्वारा कोई सबब नहीं ली गई है।

Updated : 2015-05-16T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top