Home > Archived > फसलों का सर्वे करने नहीं पहुंचा दल, किसानों में आक्रोश

फसलों का सर्वे करने नहीं पहुंचा दल, किसानों में आक्रोश

श्योपुर। ग्राम ददूनी, सोंईकला, गुरूनावदा, शंकरपुर कोटरा बगडुआ कंवरपुरा आदि गांवों में ओलावृष्टि व बरिश से गेहूॅ , धनिया, चना व सरसों, आदि फसल नष्ट हो गई। शासन व जिला प्रशासन की टीम आज तक उक्त ग्रामों में नहीं पहुंची है जिससे किसानों में आक्रोश व्याप्त है। ये आरोप कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष एवं सहकारी संस्था के अध्यक्ष कुंजबिहारी बिहारी चौधरी ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में लगाया है।
श्री चौधरी ने बताया कि ग्राम ददूनी में स्कूल के पास लगी गुमटी पर तूफान से पेड़ जा गिरा जिससे दौलतराम बैरवा की भैंस मर गई वहीं दौलतराम बैरवा के दोनों पुत्र कैलाश व देवीशंकर को गंभीरावस्था में ग्वालियर रैफर कर दिया गया है। वहीं बताया कि घायलों के उपचार के लिए किसी प्रकार की सहायता नहीं मिली है एवं भैंस का मुआवजा भी नहीं मिला है।
क्षेत्रीय विधायक दुर्गालाल विजय से ग्राम पंचायत ददूनी के सरपंच सावित्री भीम सिंह जाट सेवा सहकारी संस्था अध्यक्ष कुंजबिहारी जाट, ओमप्रकाश मेहरा ने विगत दिनों भेंट कर पीडि़त परिवार को जल्द से जल्द सहायता राशि दिलाए जाने की मांग की है। उन्होंने बताया कि क्षेत्रीय किसानों की फसल पूरी तरह नष्ट हो चुकी है किसानों के खाने के लाले पड़ गये हंै। तथा क्षेत्रीय किसान कर्ज में डूब गया है। इस तरह क्षेत्रीय किसानों की भूखे मरने की नौबत आ गयी है। इन विषय परिस्थिति के बावजूद भी अभी तक शासन व जिला प्रशासन की सर्वे टीम न पहुॅचने पर क्षेत्रीय किसानों में आक्रोश व्याप्त है।
मुख्यमंत्री का करेंगे घेराव
श्री चौधरी ने बताया कि आक्रोशित किसान कल 22 मार्च श्योपुर के बगडुआ गांव में दौरे पर आ रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का घेराव कर मुख्यमंत्री को समस्या से अवगत कराया जाएगा।

Updated : 2015-03-21T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top