Latest News
Home > Archived > भूमि बिल के खिलाफ विपक्ष का मार्च, राष्ट्रपति को देंगे ज्ञापन

भूमि बिल के खिलाफ विपक्ष का मार्च, राष्ट्रपति को देंगे ज्ञापन

भूमि बिल के खिलाफ विपक्ष का मार्च, राष्ट्रपति को देंगे ज्ञापन
X

नई दिल्ली। भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाख एकजुट विपक्ष ने मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस के सडक से लेकर संसद तक विरोध प्रदर्शन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में नौ पार्टियों के नेता इस बिल के विरोध में संसद से पैदल मार्च करते हुए राष्ट्रपति को ज्ञापन सौपने जाएंगे। खास बात यह है कि इस मार्च में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी शिरकत करेंगे। मार्च का समन्वय जदयू अध्यक्ष शरद यादव कर रहे हैं।
मार्च में कांग्रेस के अलावा माकपा, भाकपा, टीएणसी, समाजवादी पार्टी, बसपा, जदयू और द्रमुक हिस्सा लेंगी। इस मार्च में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, जदएस प्रमुख एचडी देवेगौडा, लेफ्ट नेता सीताराम येचुरी, डी राजा, टीएमसी के दिनेश त्रिवेदी, सपा के रामगोपाल यादव, द्रमुक की कनिमोई, इनेलो के दुष्यंत चौटाला के शामिल होने की भी उम्मीद है। द्रमुक सांसद तिरूचि शिवा ने कहा, हम इस बिल के खिलाफ हैं, बिल को कानून बनने के खिलाफ अपनी मजबूत लडाई की प्रक्रिया में हम रैली में हिस्सा लेंगे और राष्ट्रपति को ज्ञापन देंगे।
जबकि दूसरी तरफ, भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस चाहती है कि देश उसके रास्ते पर चले, लेकिन देश विकास के रास्ते पर चलेगा। जमीन बिल के विरोध में शाम साढे चार बजे संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने विपक्षी पार्टियां जुटेंगी और फिर राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च करेंगी। लेकिन जमीन बिल के खिलाफ विपक्ष के इस विरोध प्रदर्शन में राकांपा और बसपा शामिल नहीं होगी। इसके पहले, भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ दिल्ली में प्रदर्शन के दौरान जख्मी यूथ कांग्रेस के नेताओं से सोमवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मुलाकात की।
जंतर-मंतर पर युवा कांग्रेस ने भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन के दौरान पुलिस लाठीचार्ज में यूथ कांग्रेस के कई कार्यकर्ताओं को चोटें आई थीं। ये कार्यकर्ता जमीन बिल के खिलाफ संसद तक पहुंचने की कोशिश कर रहे थे, इसी दौरान उन पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। प्रदर्शनकारियों पर जंतर मंतर पर पानी की बौछार से तितर-बितर करने की कोशिश भी गई। सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने चिटी लिखकर विपक्ष से अपील की है कि वह राज्यसभा में किसान विरोधी जमीन बिल पास नहीं होने दें।
भाजपा संसदीय दल की बैठक आज इस बीच, मंगलवार को संसद की कार्यवाही शुरू होने से पहले सुबह साढे नौ बजे भाजपा संसदीय दल की बैठक हुई। बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेश यात्रा के बारे में जानकारी दी। साथ ही भूमि अधिग्रहण बिल को लेकर राज्यसभा में सरकार की रणनीति पर चर्चा की गई। बजट पर जवाब देंगे अरूण जेटली वित्त मंत्री अरूण जेटली मंगलवार को लोकसभा में आम बजट पर विपक्ष के हमलों का जवाब देंगे। सोमवार को लोकसभा में आम बजट पर चर्चा शुरू हुई और विपक्ष ने बजट पर तीखा हमला बोलते हुए इसे गरीब विरोधी कॉरपोरेट बजट करार दिया। 

Updated : 2015-03-17T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top