Latest News
Home > Archived > मंगलवार को मिल सकती है इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर की सहमति!

मंगलवार को मिल सकती है इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर की सहमति!

मेला प्राधिकरण सभागार में बाजार उप-समिति की बैठक हुई

ग्वालियर। मेले में इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर में दुकानें सजेंगी या नहीं इसे लेकर अब भी भ्रम की स्थिति बनी हुई है। इधर शुक्रवार को मेला प्राधिकरण के सभागार में बाजार उप-समिति की बैठक आयोजित की गई जिसमें इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर से जुड़े दुकानदारों ने मंगलवार तक इस पर अपना अंतिम निर्णय लेने की बात कही है।
इस बैठक में ऑटो मोबाइल सेक्टर, इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर एवं मेले के अन्य सेक्टरों से संबंधित दुकानदारों ने भाग लिया। जिसमें इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर से एलजी शोरूम के संचालक नवीन माहेश्वरी, लोकप्लाजा के पीताम्बर लोकवानी एवं सांई इलेक्ट्रोनिक्स के संजय कपूर ने कहा कि वह छोटे स्तर पर अपने शोरूम मेले में लगा सकते हैं लेकिन इस पर अपना अंतिम निर्णय मंगलवार को लेंगे। बैठक में एसडीएम अखिलेश जैन एवं प्राधिकरण के प्रभारी सचिव एम.एल. अटल मुख्य रूप से उपस्थित थे।
उल्लेखनीय है कि ग्वालियर व्यापार मेला का शुभारंभ आगामी 16 दिसम्बर से होना है। इसमें अब मात्र 12 दिन ही शेष बचे हैं। मेले में इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर का नहीं आना सभी व्यापारियों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। उनका मानना है कि यदि मेले में इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर नहीं आता है तो उनके व्यापार पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। वहीं दूसरी ओर टेण्डर आदि नहीं होने के कारण मेले के सभी सेक्टर खाली पड़े हुए हैं। बैठक में न्यू अलाइड एजेंसी के राहुल गुप्ता, बसंल सेल्स के मुकेश अग्रवाल, रवी ट्रेडर्स के राहुल जैन, रवि इलेक्ट्रोनिक्स के अनिल पाराशर, गुप्ता एंड बजाज के सुनील गुप्ता एवं हीरो मोटर्स प्रा. लि. के के.जे. सिंह, लघु उद्योग भारती के प्रदेश अध्यक्ष आदेश बंसल एवं ग्वालियर अध्यक्ष मनोज अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

किसने क्या कहा

* बैठक में लोक प्लाजा के संचालक पीताम्बर लोकवानी ने कहा कि मेले में इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर लगाने के लिए विचार विमर्श जरूरी है। हम कोशिश करेंगे की मेले में भागीदारी कर सकें। हो सकता है हम छोटे रूप में आएं। इसका निर्णय मंगलवार की बैठक में होगा। वर्तमान में इलेक्ट्रोनिक्स में जबरदस्त मंदी का दौर चल रहा है। खर्चे अधिक होने के कारण कंपनी मेले में अपना शोरूम लगाने के लिए कतई तैयार नहीं है। मेले में शोरूम लगाने में 40 दिन से अधिक का समय लगता है।
* मनीष सेल्स के संचालक नवीन माहेश्वरी ने कहा कि इस वर्ष हमारी दुकानें दूसरे सेक्टरों को एक वर्ष की शर्त पर दी जाएं। इसके उपरांत हमारी दुकानें हमें दे दी जाएं। जिससे हम अपने शोरूम लगा सकेंगे।
* बैठक में रॉयल ऑटोमोबाइल के हरीकांत समाधिया ने कहा कि मेले में सेल्स टैक्स की छूट नहीं मिलने के कारण ऑटोमोबाइल सेक्टर बाहर हो गया है। मेले में जब तक कोई आकर्षण नहीं होगा तो यहां सैलानी क्यों आएगा?।
* मेला दुकानदार कल्याण समिति के अध्यक्ष बलवीर खटीक ने कहा कि मेला में अभी तक मात्र 20 प्रतिशत ही दुकानदार आए हैं। उन्होंने इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर के शोरूम संचालकों से अपने शोरूम लगाने की प्रार्थना की ।
*मेला व्यापार संघ के सचिव महेश मुदगल ने इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर शोरूम संचालकों से कहा कि बहुत से निर्णय निजी हित को छोड़कर लिए जाते हैं।
* मेला प्राधिकरण के प्रभारी सचिव एम.एल. अटल ने कहा कि इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर की दुकानें खाली नहीं रहेंगी। हमें किसी ना किसी को देना पड़ेंगी। मेला नियमों के अंतर्गत वर्तमान व्यापारी ने अगर दुकानें सरेंडर नहीं की तो हम यह दुकान आपको नहीं दे सकेंगे। आगे आपकी मर्जी है।
यह भी हुआ
* एसडीएम अखिलेश जैन पूरे समय बैठक में शांत रहे।
* मेले में विद्युत आपूर्ति को लेकर मेला दुकानदार कल्याण समिति के बलवीर सिंह खटीक एवं विद्युत ठेकेदार सुरेश गौड़ के बीच हुआ विवाद।
* बैठक में अधिकतर व्यापारियों ने मेले में इलेक्ट्रोनिक्स सेक्टर लगाने पर जोर दिया।
* प्रभारी सचिव एम.एल. अटल ने कहा कि इलेक्ट्रानिक्स सेक्टर नहीं लगने के कारण मेले की छवि बिगड़ रही है।

Updated : 2015-12-05T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top