Home > Archived > बीपीएल के दोनों कार्डों का रिकार्ड जब्त, जांच शुरू

बीपीएल के दोनों कार्डों का रिकार्ड जब्त, जांच शुरू

बीपीएल कार्डों सेे 670 किलो प्राप्त किया खाद्यान्न, कांग्रेस ने कहा-शर्मनाक है ये मामला
शिवपुरी। शहर की पॉश कॉलोनी गौतम बिहार में लाखों रूपए से निर्मित भवन में निवास कर चार पहिया वाहन की सवारी करने वाले शिवपुरी नगर पालिका के अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह गरीबी रेखा के एक नहीं बल्कि दो-दो बीपीएल और एक एपीएल राशन कार्ड बनबा कर शासकीय योजनाओं का लाभ लेने के मामले में बुरी तरह फंस गए हैं। हालांकि मुन्नालाल कुशवाह अपनी सफाई देते हुए इन कार्डों को निरस्त करने का आवेदन प्रशासन को देने की बात कह रहे हैं।
लेकिन आंकड़ों के मुताबिक नगर पालिका अध्यक्ष बनने के पश्चात 670 किलो खद्यान्न इन राशन कार्डों के माध्यम से प्राप्त कर चुके हैं। अनुविभागीय अधिकारी नीतू माथुर ने इन राशन कार्डों से संबंधित सभी दस्तावेजों को नगर पालिका से जप्त कर जांच में ले लिये हैं। उधर कांग्रेस पार्टी के नेताओं का कहना है कि यदि मामला सही है तो यह मुन्नालाल के लिए ही नहीं बल्कि पूरी पार्टी के लिए शर्मिंदगी की बात है। फिलहाल इस पूरे मामले की जानकारी उनसे ली जा रही है।
पहला बीपीएल राशन कार्ड
नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह के नाम से परिवार आईडी संख्या (36498055) एक बीपीएल कार्ड नम्बर (4791)बना है। इसकी समग्र आईडी संख्या मुन्नालाल कुशवाह (166243067) है। बताया है कि इस कार्ड से अंतिम बार तीन दिसम्बर 2015 को पांच किलो राशन प्राप्त किया गया।
दूसरा बीपीएल राशन कार्ड
दूसरे बीपीएल कार्ड में परिवार के मुखिया के तौर पर मुन्नालाल कुशवाह का नाम दर्ज है। वार्ड क्रमांक 9 समग्र आईडी संख्या (166123607) है। परिवार आईडी संख्या 36463545 है। इस कार्ड से भी 3 दिसम्बर को 35 किलो राशन जारी किया गया। इस कार्ड में नपाध्यक्ष मुन्नालाल के अलावा पत्नी सुशीला कुशवाह, मृतक पुत्र राकेश कुशवाह, लक्ष्मी कुशवाह, सोनूमल कुशवाह, मनमोहन सिंह कुशवाह, निहाल सिंह कुशवाह के नाम दर्ज है।
मुन्नालाल ने बताया अपने आपको निर्दोष
इस मामले में नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह अपने आपको पाक साफ और निर्दोष बताते हैं। वह कहते हैं कि यह राशन कार्ड तब बनवाया गया था जब वह बगीचे में रहते थे। वह बहुत गरीबी में जीवन यापन करते थे और दूसरों के यहां नौकरी करते थे। वह निश्चिंत थे कि उनका बीपीएल कार्ड निरस्त हो गया होगा। वह कहते हैं कि उनके पास निरस्तीकरण के आवेदन की प्राप्ती भी है और इसका खुलासा वह पत्रकार वार्ता में करेंगे।
मुन्नालाल से जान रहे हैं हकीकत: रघुवंशी
कांग्रेस प्रवक्ता हरवीर सिंह रघुवंशी ने कहा है कि इस पूरे प्रकरण की नगर पालिका अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह से जानकारी ली जा रही है। यदि उन्हें षड्यंत्र के तहत फंसाया जा रहा है तो यह न्याय उचित है। यदि मामला सही है तो यह उनके लिए नहीं बल्कि पार्टी के लिए ही शर्म की बात होगी।
420 का प्रकरण दर्ज हो नपाअध्यक्ष कुशवाह पर: राठौर
नगर पालिका अध्यक्ष पद के चुनाव में मुन्नालाल कुशवाह के विरूद्ध भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े और पराजित हुए हरिओम राठौर ने इस मामले को लेकर नपाध्यक्ष कुशवाह के विरूद्ध मोर्चा खोल दिया है और कहा कि उनके खिलाफ इस कृत्य के लिए 420 का मामला पंजीबद्ध होना चाहिये। उन्होंने कहा कि इस प्रकरण से संबंधित सारे दस्तावेज हांसिल कर वे खुद पुलिसके पास पहुंचकर मामला पंजीबद्ध करायेंगे। फिलहाल श्री कुशवाह को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिये। क्योंकि यह उनके लिए शर्म की बात है कि शासन ने जो योजना गरीबों की सहायता के लिए लागू की गई थी। उस योजना का लाभ अपात्र होने के बाद भी उठा रहे हैं।
एसडीएम ने किया रिकार्ड जप्त
नगर पालिका अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह के दो-दो बीपीएल राशनकार्ड होने का मामला प्रकाश में आने के बाद प्रशासन आज हरकत में आया। तहसीलदार ने नगर पालिका में छापा डालकर बीपीएल और एपीएल राशनकार्ड से संबंधित समस्त रिकार्ड जप्त कर लिए हैं। उन्होंने कहा कि रजिस्टर में उनका नाम कटा हुआ है। लेकिन यदि बीपीएल राशनकार्ड निरस्त किए गए हैं ऐसा नपाध्यक्ष बता रहे हैं तो उन्होंने कार्डों को जमा क्यों नहीं करवाया गया और उन राशनकार्डों पर कूपन कैसे जारी कर दिए गए। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

Updated : 2015-12-23T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top