Top
Home > Archived > सीबीआई को जांच सौंपने के बाद 300 को मिली जमानत

सीबीआई को जांच सौंपने के बाद 300 को मिली जमानत

भोपाल। व्यावसायिक परीक्षा मंडल मामले की जांच सीबीआई को सौंपने के बाद मुख्य आरोपियों को छोड़ अब तक 300 लोग जमानत पर बाहर आ चुके हंै। अब दो दर्जन आरोपी ही जेल में हंै, इनमें अधिकतर वे लोग शामिल हंै जो नौकरी के नाम पर लूट के शिकार होने के बाद एसटीएफ ने उन्हें तथा उनके परिजनों को आरोपी बनाया है।
व्यापमं की परीक्षाओं में फर्जीवाड़ा कराने वाले मुख्य आरोपी नितिन महेन्द्रा, पंकज त्रिवेदी, सुधीर शर्मा, कांग्रेसी नेता संजीव सक्सैना जेल में हंै। एक आरोपी ओपी शुक्ला को न्यायालय में सजा सुनाये जाने के बाद जेल में हैं। सूत्रों के अनुसार भोपाल जेल में व्यापमं के करीब दो दर्जन आरोपी ही हैं। फर्जीवाड़े की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो को सौंपे जाने के बाद से विभिन्न प्रकरणों का तेजी से अनुसंधान किया गया और निर्धारित समयावधि में न्यायालयों में चालान पेश करने के बाद बड़ी संख्या में आरोपियों को न्यायालय से जमानत मिली है। अब तक भोपाल जेल से करीब 300 आरोपी रिहा हो चुके हंै। राज्यपाल के ओएसडी रहे धनराज यादव, भरत मिश्रा भी जेल से रिहा हो चुके हंै।
सीबीआई को जांच सौंपे जाने के बाद सबसे ज्यादा राहत तो उन युवकों तथा उनके परिजनों को मिली है, जिन्होंने विभिन्न परीक्षाओं में भर्ती के लिए रिश्वत दी थी, ऐसे मामले में परीक्षाओं में शामिल हुए युवकों के अलावा रिश्वत देने वाले उनके परिजनों को एसटीएफ ने आरोपी बनाया था। इनके अलावा एसटीएफ ने दलाली के मामलों में बड़ी संख्या में आरोपी बनाये थे।

Updated : 2015-12-22T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top