Top
Home > Archived > साक्षर भारत योजना: सीखने से कतरा रहे सिखाने वाले

साक्षर भारत योजना: सीखने से कतरा रहे सिखाने वाले

प्रशिक्षण में नहीं पहुंचे कई प्रेरक

अशोकनगर | साक्षर भारत योजना के तहत प्रेरकों का प्रशिक्षण आयोजित किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण जिला शिक्षा कार्यालय के पास स्थित स्कूल में बुधवार से शुरू हुआ है। विकासखण्ड स्तरीय इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण में कुछ प्रेरक प्रशिक्षण के दूसरे दिन भी शामिल नही हुए। इससे यही माना जा रहा है कि गांवों में साक्षर बनाने के गुर सीखने वाले प्रेरक सीखने में रुचि नही दिखा रहे हैं।
विकासखण्ड क्षेत्र के गांवों में साक्षर भारत योजना के तहत शुरू हो रहे लोक शिक्षा केन्द्रों में काम करने के लिए प्रेरक नियुक्त किए हैं। इन प्रेरकों को प्रशिक्षण देने के लिए ब्लॉक शिक्षा अधिकारी द्वारा 6 ट्रेनर्स भी नियुक्त किए हैं। प्रशिक्षण में 152 प्रेरकों को शामिल होना था। इनमें से पहले दिन सिर्फ 90 प्रेरक ही उपस्थित हुए। यहां पहले दिन 60 प्रेरकों ने प्रशिक्षण में भाग ही नही लिया। वहीं प्रशिक्षण के दूसरे दिन 104 प्रेरक शामिल हुए और 48 अनुपस्थित रहे। आज शुक्रवार को प्रशिक्षण का आखिरी दिन है। प्रशिक्षण में शामिल महिला-पुरुष वर्ग के प्रेरकों को प्रशिक्षण के दौरान पेन, प्रपत्र दिए गए। तीन कक्षों में आयोजित हो रहे इस प्रशिक्षण में 6 मास्टर ट्रेनर्स नियुक्त किए गए हैं। इनमें दिनेश कुमार जाटव, जगमोहन यादव, कमरलाल जाटव, गणेशराम चौधरी, भगवत सिंह नामदेव, देवेन्द्र कुमार छीपा शामिल हैं। प्रेरकों के प्रशिक्षण के संबंध में प्रभारी बीईओ-बीआरसी लखन दैलवार ने बताया कि प्रशिक्षण की जानकारी प्रेरकों को दी गई थी। जो अनुपस्थित रहे हैं उन्हें प्रशिक्षण का एक और मौका देंगे। यदि फिर भी अनुपस्थित रहते हैं तो वह कोई कार्य करने लगे हैं। प्रशिक्षण के दौरान प्रेरकों से घोषणा-पत्र भी भरवाए जा रहे हैं।

Updated : 2015-11-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top