Home > Archived > पांचवें दिन भी कफ्र्यू परीक्षाएं हुईं स्थगित

पांचवें दिन भी कफ्र्यू परीक्षाएं हुईं स्थगित

भोपाल/मंडला। सिवनी जिले का बरघाट पांचवें दिन भी कफ्र्यू के साए में रहा। पांचवें दिन भी महज दो घंटे के लिए कफ्र्यूू में ढील दी गई। अभी प्रशासन ने कफ्र्यू पूरी तरह से हटाने पर कोई फैसला नहीं लिया है। भाजपा नेता कपूरचंद ठाकरे की मौत के बाद बरघाट में तोडफ़ोड़ और आगजनी की वजह से हालात बेकाबू हो गए थे। मौके पर पहुंचे जिलाधीश और पुलिस अधीक्षक के वाहनों को भी उपद्रवियों ने निशाना बनाया था। इसके बाद से कस्बा कफ्र्यू के साये में है।
शुक्रवार सुबह दो घंटे के लिए 10 से 12 बजे तक कफ्र्यू में ढील गई थी। इस दौरान स्थानीय बाजार में जरूरी सामान खरीदने के लिए बड़ी संख्या में लोग घरों से बाहर निकले। बरघाट में कफ्र्यू की वजह से कॉलेज परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। पांच अक्टूबर से कफ्र्यू लगा होने की वजह से विद्यार्थी इन परीक्षाओं में शामिल नहीं हो सके। शहर के हालात को देखते हुए जबलपुर विश्विद्यालय ने फिलहाल परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला लिया है। पीजी कक्षाओं की परीक्षा भी 13 अक्टूबर से शुरू होनी है। शहर के हालात को देखते हुए फैसला लिया गया है कि कफ्र्यू पूरी तरह हटने के बाद निर्धारित टाइम टेबल अनुसार परीक्षा होगी। शेष पेपर के लिए अलग से तारीखों का एलान किया जाएगा।
पूर्व सरपंच की हत्या के बाद हालात हो गए थे बेकाबू
लोहारा ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच और भाजपा ग्रामीण मंडल के महामंत्री कपूरचंद ठाकरे की नागपुर में इलाज के दौरान मौत हो गई। ठाकरे की मौत की खबर लगते ही बरघाट में हालात बिगड़ गए।
ग्रामीणों ने ठाकरे पर हमला करने वाले दो आरोपियों जाहिर खान और रियाज खान के घर पर तोडफ़ोड़ कर दी। आक्रोशित ग्रामीणों ने आधा दर्जन मोटरसाइकिलों में भी आग लगा दी। दो पक्षों के बीच बढ़ते तनाव की वजह से बरघाट में धारा 144 लागू कर दी गई थी। इस पर भी हालात पर काबू न होता देख कफ्र्यूू लगा दिया गया।

Updated : 2015-10-10T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top