Home > Archived > बीसीसीआई की हद से ज्यादा ताकत क्रिकेट के लिए अच्छी नहीं: बायकाट

बीसीसीआई की हद से ज्यादा ताकत क्रिकेट के लिए अच्छी नहीं: बायकाट

बीसीसीआई की हद से ज्यादा ताकत क्रिकेट के लिए अच्छी नहीं: बायकाट
X

सिडनी। विश्व क्रिकेट में बढ़ रहे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के कद से चिंतित इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ज्यॉफ्री बायकाट ने कहा है कि बीसीसीआई की हद से ज्यादा बढ़ती ताकत क्रिकेट के लिए अच्छी नहीं है। बायकाट ने कहा कि बीसीसीआई ने खेल को अपने नियंत्रण में ले लिया है। खेल के लिए किसी एक देश का शक्ति का केंद्र बनते जाना अच्छा नहीं होता। इससे अन्य देश आतंकित होते हैं। आज क्रिकेट की दुनिया के सारे फैसले भारत ले रहा है।
हालांकि उन्होंने आईपीएल के सकारात्मक प्रभावों का उल्लेख भी किया। बायकाट ने कहा कि आईपीएल के कारण लोग क्रिकेट देख रहे हैं और दर्शकों की बढ़ती संख्या खेल के हित में है। इससे पहले इयान बाथम ने आईपीएल को शाक्ति का केंद्र बताते हुए इसे बंद करने की सलाह दी थी। उन्होंने कहा था कि आईपीएल का आयोजन लम्बे समय में खेल के लिए अच्छा नहीं है और वह इसे लेकर चिंतित है।
बाथम की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए बायकाट ने कहा कि मुझे लगता है कि आईपीएल नहीं, बल्कि भारत शाक्तियों का केंद्र बन रहा है। आईपीएल तो खेल के लिए अच्छा है। इसके आयोजन से क्रिकेट और खिलाड़ियों दोनों को फायदा हुआ है।
बायकाट ने माना कि भारत से पहले इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट की महाशक्ति हुआ करते थे और अन्य देशों के साथ अन्याय हुआ करता था। उन्होंने कहा कि उस समय इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट की महाशक्ति थे और यह भी अनुचित था। उनके पास दो-दो वोट थे और यह सही नहीं था। ऐसा ही अब भारत कर रहा है। भारत का इतना शक्तिशाली होना दूसरे देशों के साथ अन्याय है।

Updated : 2014-09-08T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top