Home > Archived > फर्जी प्रवेश दिलाने वाला दलाल पकड़ा

फर्जी प्रवेश दिलाने वाला दलाल पकड़ा

ग्वालियर। पीएमटी फर्जीकाण्ड में छात्रों को बिना परीक्षा के प्रवेश दिलाने वाले एक दलाल को पुलिस ने मंगलवार को दबोच लिया। पुलिस को लम्बे समय से इसकी तलाश थी। इसके पकड़ में आने के बाद पुलिस को इस मामले से जुड़े और भी छात्रों, दलालों तथा सॉल्वरों की जानकारी मिल सकती है।
उल्लेखनीय है कि पुलिस फर्जी ढंग से पीएमटी में प्रवेश पाने वाले 2009 बैच के गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय के छात्र ज्ञान सिंह रावत निवासी मुरैना को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। पूछताछ में ज्ञानसिंह ने बताया कि उसे पीएमटी में बिना परीक्षा के प्रवेश टिकटोली, मुरैना निवासी मातादीन पुत्र रमेश रावत ने दिलाया था। इसके लिए उसने तीन लाख रूपए लिए थे।
डॉक्टर नहीं बन सका तो बन गया दलाल
मातादीन ने पुलिस को बताया कि वह 2005 में डॉक्टर बनने के लिए ग्वालियर आया था। पड़ाव स्थित एक कोचिंग पर उसकी मुलाकात हितेन्द्र यादव से हुई जो 2006 बैच का था। उसने बताया कि वह सॉल्वर बैठाकर पीएमटी में प्रवेश दिलवा देता है। मातादीन ने ज्ञान सिंह की मुलाकात हितेन्द्र यादव से करवाई थी। मातादीन ने बताया कि उसने वर्ष 2009 में पीएमटी में फर्जी ढंग से प्रवेश पाने का प्रयास किया था। उसकी हितेन्द्र के माध्यम से कानपुर के एक गिरोह से मुलाकात हुई थी। हितेन्द्र ने गिरोह के सरगना आलोक निवासी बिहार से मुलाकात कर तीन-तीन लाख रूपए में ज्ञान सिंह और मेरा पीएमटी में प्रवेश दिलाने का ठेका लिया था। आलोक कानपुर, लखनऊ और बिहार से सोल्वर लेकर आता था। लेकिन मातादीन का सेन्टर पद्मा उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ग्वालियर में पड़ा था । यहां पर उसकी जगह पर परीक्षा देने के लिए बैठा सोल्वर पकड़ा गया और थाना कम्पू में अपराध क्रमांक 259/09 धारा 419, 420, का प्रकरणदर्ज किया गया था। उसके बाद मातादीन भी पकड़ा गया और अन्य 15 आरोपी गिरफ्तार किए गए थे। जिसमें बिहार और कानपुर के 11 सोल्वर भी शामिल थे। न्यायालय ने उक्त प्रकरण में सोल्वर अब्दुल कबाब पुत्र अब्दुल सत्तार निवासी लखनऊ को सजा भी सुनाई है।
इनाम घोषित
पीएमटी में फर्जी तरीके से प्रवेश दिलाने वाले दलाल संतोष चौरसिया पर पुलिस महानिरीक्षक आदर्श कटियार द्वारा 15 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। इसके साथ ही पीएमटी में फर्जी प्रवेश पाने वाले छात्र गौरव भदौरिया पर पुलिस उप महानिरीक्षक संतोष कुमार सिंह द्वारा 10 हजार रूपये का इनाम घोषित किया गया है 

Updated : 2014-08-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top