Home > Archived > पौने दो सौ छात्राओं को आधा किलो दाल

पौने दो सौ छात्राओं को आधा किलो दाल

मध्यान्ह भोजन के आकस्मिक निरीक्षण में खुली पोल

अशोकनगर। जिले में मध्याह्न भोजन योजना कागजों में संचालित हो रही है और योजना में भारी अनियमितताएं बरती जा रही हैं। इस तरह की अनियमितताएं तब सामने आईं, जब संयुक्तायुक्त भोपाल ने जिले में चल रही मध्याह्न भोजन योजना की जमीनी हकीकत जानी। दो दिन तक चले इस निरीक्षण में मध्याह्न भोजन की कलई खुल गई है।
जिला मुख्यालय पर ही कन्या प्राइमरी स्कूल में मध्याह्न भोजन का बंटाधार होते भोपाल से आए संयुक्त आयुक्त सुदर्शन सोनी ने खुद देखी, जहां 439 दर्ज छात्राओं में से स्कूल में महज 180 छात्राएं ही उपस्थित थीं मगर जो अनियमितता देखी गई, वह यह थी कि इन 180 छात्राओं के लिए जो भोजन तैयार किया जा रहा था, वह किसी भी स्थिति में मानक स्तर का नहीं था। इन छात्राओं के लिए डेढ़ किलो आलू और आधा किलो दाल पकाई जा रही थी। यही नहीं स्व-सहायता समूह द्वारा स्कूल में जो छात्राओं के लिए रोटियां बनकर आई थीं उनकी संख्या 350 ही थी जबकि इनकी संख्या 520 होनी थी। इससे स्पष्ट था कि स्कूल में छात्राओं को जो भोजन दिया जा रहा था, उसकी दाल पतली और सब्जी में से आलू गायब थे।
इसी तरह मुंगावली विकासखंड के गुपलिया में संचालित हो रहे शासकीय स्कूल में तीन महीने से योजना के तहत भोजन छात्रों को नहीं बांटा जा रहा है। वहीं जिला मुख्यालय के पास स्थित ग्राम मोहरी राय के स्कूल में मध्याह्न भोजन का माताओं द्वारा निरीक्षण करने का रजिस्टर मेंटेन नहीं था।
बताया जा रहा है कि निरीक्षण के उपरांत निरीक्षण अधिकारी द्वारा जिले में मध्याह्न भोजन योजना की जिम्मेदारी संभाल रहे अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। यही नहीं अधिकारी द्वारा कन्या प्राइमरी स्कूल के प्रधानाध्यापक अशोक कुमार शर्मा, प्रभारी बीआरसीसी परमार सिंह अहिरवार और नगरपालिका सीएमओ पीके सिंह को नोटिस भी जारी किए गए हैं।
समूहों को मिलेगा गैस कनेक्शन
अभी तक चूल्हे और लकड़ी से भोजन पकाकर छात्रों को परोसने वाले स्व-सहायता समूहों को जल्द ही घरेलू गैस सिलेण्डर का उपलब्ध कराया जाएगा। जिससे स्व-सहायता समूहों के कर्मचारियों को चूल्हे से निकलने वाले धुएं की समस्या से निजात मिल जाएगी। इस संबंध में मध्याह्न भोजन के जिला प्रभारी श्री झारिया ने बताया कि पूरे जिले में 1501 स्व-सहायता समूह संचालित हो रहे हैं। इनमें से चन्देरी ब्लॉक में 273, ईसागढ़ में 358, मुंगावली में 424 और अशोकनगर में 446 स्व-सहायता समूह कार्यरत हैं। नवीन योजना के तहत उन स्व-सहायता समूहों को घरेलू गैस कनेक्शन दिया जाएगा। जो नियमित और अच्छा काम कर रहे हैं। इसके लिए एक टीम बनाई जाएगी जो स्व-सहायता समूहों की मॉनीटरिंग करेगी। अच्छा काम करने और नियमित काम कर रहे स्व-सहायता समूहों को योजना के तहत कनेक्शन दिलवाए जाएंगे।

इनका कहना है
निरीक्षण के दौरान गुपलिया, मोहरी और कन्या प्राइमरी स्कूल अशोकनगर में अनियमितताएं मिली थीं। जिस पर अधिकारी महोदय द्वारा संबंधितों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं।
एसआर झारिया

जिला एमडीएम परियोजना अधिकारी

Updated : 2014-07-09T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top