Latest News
Home > Archived > भारत को डॉलर नहीं, नए विचार, ज्ञान और विशेषज्ञ चाहिए: मोदी

भारत को डॉलर नहीं, नए विचार, ज्ञान और विशेषज्ञ चाहिए: मोदी

भारत को डॉलर नहीं, नए विचार, ज्ञान और विशेषज्ञ चाहिए: मोदी
X

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत को डॉलर नहीं, नए आइडिया और नोलेज चाहिए। विश्व बैंक के अध्यक्ष जिम योंग किम से मुलाकात के दौरान मोदी ने यह बात कही। किम से उन्होंने कहा कि भारत को डॉलर की जरूरत नहीं है, भारत को नए विचार, ज्ञान और विशेषज्ञ चाहिए।
भविष्य को ध्यान में रखते हुए कुशल लोगों के लिए आधार का विकास करने पर फोकस करने की जरूरत है। मोदी ने बैठक के दौरान किम को सुझाव दिया कि गंगा सफाई अभियान विश्व बैंक के लिए एक प्ररेणादायक प्रोजेक्ट होगा।
मोदी ने टि्वटर पर कहा कि विश्व बैंक अध्यक्ष जिम योंग किम के साथ मेरी बैठक काफी उपयोगी रही। हमने आने वाले समय में साथ काम करने के कई रास्तों पर चर्चा की। ट्वीट कर मोदी ने कहा कि डॉलर की जगह हम विश्व बैंक की नोलेज और विशेषज्ञता में रूचि रखते हैं। डॉ. किम ने इस पर सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि विश्व बैंक भारत का सूचना बैंक बन सकता है।
मोदी ने कहा कि हमें वल्र्ड बैंक से मास प्रोडक्शन पर ही आइडिया नहीं चाहिए, बल्कि प्रोडक्शन बाय मास के लिए भी आइडिया चाहिए, जो हमारे लिए फायदेमंद होगा। यह ध्यान देने योग्य बात है कि विश्व बैंक अभी गुड्स के व्यापार पर फोकस करता है। भविष्य में मुख्य समस्या कुशल लोगों के ना मिलने की होगी। हमें इसी दिशा में काम करना होगा। साथ ही मोदी ने विश्व बैंक के कार्यRमों को शीध्र कार्यान्वयन करने पर भी जोर दिया।

Updated : 2014-07-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top