Home > Archived > इंग्लैंड को दो बार आउट करने के लिए धैर्य की जरूरत : भुवी

इंग्लैंड को दो बार आउट करने के लिए धैर्य की जरूरत : भुवी

नॉटिंघम | भारत के मध्यम गति के गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार का मानना है कि ट्रेंटब्रिज की बेजान पिच पर इंग्लैंड को दो बार आउट करके पहला टेस्ट मैच जीतने के लिए उन्हें और गेंदबाजी के उनके साथियों को धैर्य बरतना होगा।
ट्रेंटब्रिज की पिच सपाट है जिसके कारण उसकी आलोचना भी की जा रही है। भुवनेश्वर का भी मानना है कि इंग्लैंड के बल्लेबाजी क्रम को ढहाने के लिए भारतीय गेंदबाजों को अनुशासित प्रदर्शन करना होगा। उन्होंने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद कहा कि हम पिच को लेकर कुछ नहीं कर सकते। हमें धैर्य बरतना होगा। यह काफी हद तक भारतीय पिच जैसी है और हमें विकेट टू विकेट गेंदबाजी करनी होगी। हमें ऐसी परिस्थितियों में खेलने का काफी अनुभव है और इसलिए हम जानते हैं कि क्या करने की जरूरत है।
नेश्वर ने कहा कि पिच भले ही नहीं बदली हो लेकिन यह बाद में कुछ टर्न ले सकती है। हम इग्लैंड को आउट करने के प्रति आश्वस्त हैं और हमें ऐसा करना होगा क्योंकि हम यह मैच जीतना चाहते हैं। इंग्लैंड के गेंदबाजों को भारतीय पारी को समेटने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ी। भुवनेश्वर और मोहम्मद शमी ने अंतिम विकेट के लिये 111 रन की साझेदारी करके इंग्लैंड की परेशानी बढ़ायी।
अपने करियर का पहला अर्धशतक (58) बनाने वाले भुवनेश्वर ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि इंग्लैंड ने खराब गेंदबाजी की। उन्होंने हम पर काफी दबाव डाला। उन्होंने अलग चीजें अपनायी और अलग क्षेत्ररक्षण लगाया। इस तरह की पिच पर आपको कुछ अलग करने की जरूरत होती है। यदि आखिरी विकेट के लिए शतकीय साझेदारी होती है तो गेंदबाज थक जाएंगे और हताश होंगे। इसलिए उन्होंने कुछ कोशिश की और हमने भी अपनी तरफ से प्रयास किया।

Updated : 2014-07-11T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top