Latest News
Home > Archived > भीषण गर्मी ने तोड़ा दो साल का रिकार्ड

भीषण गर्मी ने तोड़ा दो साल का रिकार्ड

भीषण गर्मी ने तोड़ा दो साल का रिकार्ड
X

*48 डिग्री तक जा सकता है पारा * गुरुवार को पहुंचा 46 डिग्री पर


ग्वालियर।
तपनकाल के नौ दिन गुजर जाने के बाद भी ग्वालियर और चम्बल अंचल में सूरज कहर बरपा रहा है। गुरुवार को तो पारा 46 डिग्री सेल्सियस पर पहुंंच गया, जिसने जून में गर्मी का पिछले दो सालों का रिकार्ड तोड़ दिया। इससे पहले 1 जून 2012 को पारा 46 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि पारा अभी और ऊपर जाएगा। आगामी दिनों में पारा 48 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है।
उत्तर भारत के साथ ग्वालियर और चम्बल अंचल में भी भीषण गर्मी का कहर जारी है। पिछले कुछ दिनों से सुबह से ही धूप में इतना तीखापन देखा जा रहा है, जिससे ऐसा प्रतीत होता है जैसे आसमान से आग बरस रही हो। दोपहर में तो सूरज के तेवर और अधिक उग्र हो जाते हैं। इसके चलते सड़कों और बाजारों में इन दिनों लगभग सन्नाटा पसरा हुआ है।

सहमे पक्षी छिपे घौंसलों में
भीषण गर्मी से न केवल सामान्य जनजीवन प्रभावित हो रहा है अपितु पशु-पक्षी भी सहमे हुए हैं। भोजन-पानी की तलाश में दिन भर जहां-तहां कलरव करने वाले पक्षी सुबह और शाम के वक्त भी दिखाई नहीं देते और अपने घौंसलों में छिपे बैठे रहते हैं। इधर शहर की सड़कों पर घूमने वाले आवारा जानवर भी इन दिनों नजर नहीं आ रहे। वे भी सुरक्षित स्थानों पर जाकर छिप गए हैं।
अभी और सताएगी गर्मी
भीषण गर्मी और जानलेवा लपट के चलते बीमारियों ने भी पैर पसारना शुरू कर दिया है। अस्पताल में मरीजों की संख्या बढऩे लगी है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी से फिलहाल राहत मिलने वाली नहीं है। ग्वालियर में अगले दिनों में पारा 47 से 48 डिग्री तक जा सकता है। भीषण गर्मी में बिजली पानी की कमी लोगों को और रुला रही है। जल स्तर नीचे चला गया है, जिसके चलते तमाम हैण्डपम्प सूख गए हैं। वहीं संधारण के नाम पर आए दिन बिजली कटौती के चलते भी पानी की समस्या पैदा हो गई है।

गुरुवार सबसे गर्म
स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार इस सीजन में गुरुवार अब तक का सबसे गर्म दिन साबित हुआ क्योंकि आज पहली बार शहर में अधिकतम पारा 46.0 डिग्री दर्ज किया गया, जो औसत से 4.4 और गतराज से 1.4 डिग्री अधिक है। इससे पहले सर्वाधिक अधिकतम पारा 30 मई को 45.4 दर्ज किया गया था। इसी प्रकार न्यूनतम पारा 1.3 डिग्री बढ़त के साथ 27.1 डिग्री दर्ज किया गया, जो औसत से 1.0 डिग्री कम है। इसी प्रकार सुबह हवा में नमी 41 प्रतिशत दर्ज की गई, जो शाम को घटकर 24 प्रतिशत रह गई। स्थानीय मौसम विज्ञानी उमाशंकर चौकसे के अनुसार इन दिनों हवाएं चूंकि उत्तर पश्चिमी (राजस्थान की ओर से) आ रही हैं, इसलिए फिलहाल गर्मी से राहत की संभावना नहीं है। अगले दो से तीन दिनों में पारा 47 से 48 डिग्री तक जा सकता है।
दिन भर यूं रही पारे की चाल
समय पारा
प्रात:काल
8.30 35.6
9.30 39.8
10.30 42.4
11.30 43.6

मध्यकाल
12.30 44.0
1.30 44.6
2.30 45.0
3.30 45.2

सायंकाल
4.30 44.8
5.30 44.0

पिछले सात सालों का 5 जून का पारा
वर्ष अधिक. न्यून.
2014 46.0 27.1
2013 44.8 31.1
2012 43.2 30.4
2011 44.3 27.4
2010 40.4 33.5
2009 43.7 34.6
2008 38.8 27.8
पिछले सात वर्षों में जून का सर्वाधिक पारा
तारीख अधिकतम पारा
5 जून 2014 46.0
6 जून 2013 45.8
1 जून 2012 46.0
7 जून 2011 47.1
21 जून 2010 47.2
23 जून 2009 45.5
2 जून 2008 41.0

आगामी छह दिनों का संभावित पारा

तारीख अधिकतम पारा
6 जून 47.0
7 जून 48.0
8 जून 46.0
9 जून 46.0
10 जून 47.0
11 जून 47.0

Updated : 2014-06-06T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top