Latest News
Home > Archived > मुंडे के निधन पर प्रधानमत्री सहित मंत्रियों और नेताओं ने जताया शोक

मुंडे के निधन पर प्रधानमत्री सहित मंत्रियों और नेताओं ने जताया शोक

मुंडे के निधन पर प्रधानमत्री सहित मंत्रियों और नेताओं ने जताया शोक
X

नई दिल्ली | केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री गोपीनाथ मुंडे के कास्मिक निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित केंद्रीय मंत्रिमंडल के अनेक सदस्यों और नेताओं ने गहरा शोक व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि ‘‘मुझे अपने ‘‘मित्र’’ और मंत्रिमंडल सहकर्मी गोपीनाथ मुंडे के निधन से गहरा दुख पहुंचा है। ‘‘एक तेज तर्रार नेता को मेरी श्रद्धांजलि जिनके असमय निधन से खाली हुई जगह को भरना मुश्किल है। मैं अत्यंत दुखी और सदमे में हूं. उनका निधन राष्ट्र और सरकार के लिए एक बडी क्षति है।वह एक सच्चे जननेता थे, समाज के पिछडे तबके से ताल्लुक रखने वाले मुंडे ने उंचाइयों को छूआ और निरंतर लोगों की सेवा की।पार्टी और सरकार 64 वर्षीय नेता के शोक संतप्त परिवार के साथ है।
केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपने शोक संदेश में कहा कि गोपीनाथ मुंडे के निधन से उन्हें गहरा दुख पहुंचा है। मुंडे सदा किसानों और गरीबों के बारे में सोचा करते थे उनके निधन से भाजपा को क्षति हुई है जिसकी भरपाई नहीं की जा सकती है।
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उनके निधन से विकास के एक सूरज का अंत हो गया। वो मेरे बड़े भाई की तरह थे। विदेश मंत्री सुषमा स्वाराज ने कही कि अपने वरिष्‍ठ सहयोगी मुंडे जी के बारे में सुनकर सदमे में हूं।
तेलगुदेशम पार्टी के प्रमुख और राजग के सहयोगी चन्द्रबाबू नायडू ने कहा कि उनके निधन की खबर सुन कर मुझे काफी दुख हु।. उनका निधन राजग के लिए एक बड़ा झटका है। मेरी संवेदना उनके परिवार के साथ है। महाराष्ट्र कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा कि वे बेहद दुखी है। उनके परिवार के साथ मेरी गहरी संवेदना है। छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके निधन का मुझे गहरा दुख है। मुंडे महाराष्ट्र के लोकप्रिय नेता थे। उनके निधन से देश ने और महाराष्ट्र ने एक कुशल और कर्मठ जनप्रतिनिधि तथा समाजसेवी को हमेशा के लिए खो दिया है। कांग्रेस प्रवक्त राश्दि अल्वी ने कहा कि मुंडे जी हमेशा लोगों के बीच रहने वाले नेता थे। उन्हें आराम करने का शायद ही मौका मिलता था। मेरी संवेदना उनके परिवार के साथ है।
केंद्रीय कानून मंत्री ने मुंडे को गरीबों और किसानों के मसीहा बताते हुए कहा कि उनके निधन से मुझे गहरा आघात पहुंचा है। वे मेरे अच्छे मित्र थे। मेरी संवेदना उनके परिवार के साथ है।
शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि मौजूदा समय में मुंडे दिल्ली में राज्य के सबसे शीर्ष नेता थे। वे जमीन से जुडे नेता थे और बेहद लोकप्रिय थे। हमने कभी उन्हें गुस्सा होते नहीं देखा और वह हमेशा पार्टी कार्यकताओं के बीच पाए जाते थे। केवल शिवसेना और भाजपा ने ही एक शानदार नेता नहीं खोया है बल्कि महाराष्ट्र को भी अपूरणीय क्षति हुई है।वह ऐसे नेता थे जिन्हें महाराष्ट्र और उसकी ‘‘अस्मिता’’ पर गर्व था। केंद्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि गोपीनाथ मुंडे के साथ उनका 20 वर्ष से अधिक का संबंध रहा है। वह हमेशा दलितों और किसानों के बारे में सोचते रहते थे। उनके परिवारवालों के लिए मैं संवेदना जताता हूं।

Updated : 2014-06-03T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top