Latest News
Home > Archived > मंजू शर्मा की हत्या का पर्दाफाशभांजे ने की मामी की हत्या

मंजू शर्मा की हत्या का पर्दाफाशभांजे ने की मामी की हत्या

भांजे ने की मामी की हत्या
दतिया। थाना पण्डोखर क्षेत्र के अन्तर्गत 21 जून को थाना पण्डोखर पुलिस को सूचना मिली कि श्रीमती मंजू शर्मा पत्नी वीरेन्द्र शर्मा निवासी ग्राम सालौन बी थाना पण्डोखर की गोली लगने से मृत्यु हो गई। सूचना मिलते ही थाना प्रभारी कुलदीप सिंह व वरिष्ठ पुलिस अधिकारी पुलिस बल व फिंगर प्रिंट विशेषज्ञ के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए थे। घटनास्थल पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने बारीकी से निरीक्षण व मुआयना किया। घटना की जानकारी लगते ही मृतक के मायके वाले भी पहुंच गए। उन्होंने मृतका के पति वीरेन्द्र शर्मा पर हत्या का आरोप लगाया। लेकिन जांच से पता चला कि मंजू का पति घटना होने से पहले ही शादी के सिलसिले में झांसी गया था। मृतका का ससुर भी घटना के समय गांव की एक शादी में गया हुआ था। श्रीमती मंजू शर्मा के अलावा घर में उसकी सास रतिबाई एवं भांजा अंकित शर्मा मौजूद था।
जांच से यह मालूम चला कि घटना की रात्रि में नन्दू उर्फ अंकित शर्मा ने गांव में हो रही शादी में अवैध पिस्टल लेकर जाना चाहा क्योंकि वह वहां हर्ष फायर करना चाहता था। यह अवैध पिस्टल अंकित के मामा वीरेन्द्र शर्मा की थी। नन्दू जब पिस्टल लेकर बाहर जाने लगा तो उसकी मामी मंजू ने उसे रोका एवं डांटने फटकारने लगी। इससे नंदू को बुरा लगा और उसने पिस्टल अपनी मामी मंजू शर्मा पर तान दी। गोली मंजू के माथे में धंस गई जिससे वह बैठे-बैठे ही ढेर हो गई।
इस कृत्य को छिपाने का प्रयास किया गया और मंजू के ससुर ने पण्डोखर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि मंजू ने स्वयं गोली मार ली। परन्तु पुलिस अधीक्षक ने जांच उपरांत बिछाए गए अपने जाल से हत्याकांड का पर्दाफाश किया और आरोपी नन्दू शर्मा उर्फ अंकित शर्मा भांजा निवासी सेंवढ़ा, वीरेन्द्र उर्फ बहादुर शर्मा पति, रामस्वरूप शर्मा ससुर, रामरति उर्फ रति शर्मा सास से कड़ी पूछताछ की जिससे वह टूट गए और अपना अपराध स्वीकार कर लिया। सभी को 302, 120 बी, 458 ए आईपीसी, 25/27 एक्ट का आरोपी बनाते हुए गिरफ्तार किया और न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया। 

Updated : 2014-06-26T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top