Home > Archived > आशियाना फर्जी मुठभेड़ में थाना प्रभारी को मौत की सजा, अन्य सात को उम्रकैद

आशियाना फर्जी मुठभेड़ में थाना प्रभारी को मौत की सजा, अन्य सात को उम्रकैद

आशियाना फर्जी मुठभेड़ में थाना प्रभारी को मौत की सजा, अन्य सात को उम्रकैद
X

पटना । आशियाना नगर फर्जी मुठभेड़ मामले में पटना के सिविलकोर्ट ने 8 लोगों को सजा का एलान कर दिया। कोर्ट ने तत्कालीन शास्त्रीनगर थाना प्रभारी शम्से आलम को फांसी की सजा सुनाई है, जबकि अन्य सात दोशियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इन सात लोगों में 2 पुलिस के जवान और दुकानदार भी शामिल हैं। ज्ञात हो कि 28 दिसंबर 2002 को आशियाना नगर के सम्मेलन मार्केट में तीन निर्दोष छात्रों को रंगदारी के आरोप में फर्जी मुठभेड़ में पुलिस ने मार गिराया था। इसके बाद इलाके में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। गुस्साये लोगों ने सम्मेलन मार्केट में आग लगा दी थी। इस मामले को लेकर आंदोलन का दौर चला तो 18 फरवरी 2003 को सीबीआई ने एफआरआई दर्ज किया और थाना प्रभारी समेत कई लोग गिरफ्तार किए गये। वहीं बचाव पक्ष के वकील ने इस फैसले को चुनौती देने की बात कही है।

Updated : 2014-06-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top