Latest News
Home > Archived > मतदाताओं के स्वागत के लिए बनेंगे मॉडल मतदान केन्द्र

मतदाताओं के स्वागत के लिए बनेंगे मॉडल मतदान केन्द्र

मुरैना। मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी जयदीप गोविंद ने आज यहां कहा कि चंबल के भिण्ड व मुरैना संसदीय क्षेत्रों में हिंसा रोकने व शांतिपूवर्क मतदान कराने हेतु व्यापक सुरक्षा प्रबंध व इंतजाम किए गए हैं। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री गोविंद मुरैना-भिण्ड के कुछ संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर निरीक्षण करने के बाद प्रेस से चर्चा कर रहे थे। श्री गोविन्द ने कहाकि मतदाताओं में जागरूकता बढऩे के कारण प्रदेश में संपन्न हुए प्रथम चरण के मतदान प्रतिशत में वृद्धि हुई है। मतदाताओं में मतदान के लिए स्वच्छ वातावरण तैयार करने के लिए प्रदेश के सभी जिलों में काफी कुछ मॉडल मतदान केन्द्र भी बनाये गये हैं। इन केन्द्रों पर मतदाताओं का फूलमालाओं से स्वागत होगा तथा बिजली, पानी एवं छाया का विशेष पबंध किया जाएगा।
मुख्य चुनाव पदाधिकारी जयदीप गोविन्द ने आज मुरैना-भिण्ड जिले के कुछ अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों पर हेलीकॉप्टर से पहुंचकर अवलोकन किया। तदुपंरात चंबल के कमिश्नर व आईजी सहित वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक ली तथा उन्हे निर्देशित किया कि चंबल में निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान के लिए आपराधिक तत्वों, वारंटियों तथा बाहरी तत्वों के विरुद्ध कारगर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करें। श्री गोविन्द ने कहा कि इस बार चुनाव आयोग प्रत्येक जिलों में वॉर्डर मतदान केन्द्रों को मॉडल मतदान केन्द्र बना रहा है, इन केन्द्रों पर वहां तैनात मतदान कर्मियों द्वारा नवमतदाताओं का फूलमालाएं व गुलदस्ता भेंट कर अभिनंंदन किया जायेगा। इन मतदान केन्द्रों पर बिजली, पानी व छाया की विशेष व्यवस्था रहेगी।
उन्होंने कहाकि जिले में हिंसा व आतंक रोकने के लिए लाइसेंसी हथियारों को जमा करा लिया गया है। पुलिस गैर लाइसेंसी हथियारों की भी जब्ती की कार्रवाई कर रही है। श्री गोविन्द ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहाकि मध्यप्रदेश में इस बार 7 हजार नवीन मतदान केन्द्र स्थापित किये गए हैं। बीती विधानसभा में प्रदेश में मतदाताओं की संख्या 4 करोड़ 76 लाख थी, जो अब बढ़कर 4 करोड़ 80 लाख हो गई है।
प्रदेश में संपन्न हुए प्रथम चरण के मतदान में मतदान प्रतिशत में इजाफा हुआ है, कोशिश है कि आगामी मतदान के समय ऐसी स्वच्छ व्यवस्थाएं बनाई जायें ताकि मतदाता और अधिक अपने मतदान का निर्भय होकर प्रयोग कर सकें। एक सवाल के जवाब में प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहाकि चम्बल के सीमावर्ती जिलों के अधिकारियों के साथ समन्यवय बनाकर जिलों मेें दूसरे राज्यों के असमाजिक तत्वों को रोकने के लिए सीमा सील कर चौकसी बढ़ा दी गई है।

जिलों मेें फरार चल रहे बारंटियों एवं अपराधी तत्वों को गिरफ्तार किया जा रहा है। भिण्ड और मुरैना में बीते विधानसभा चुनाव की तुलना में अधिक प्रतिबंधात्मक एवं गिरफ्तारी की कार्यवाहियां हुई है। मतदाताओं को भयमुक्त वातावरण प्रदान करने के लिए विशेष इंतजामात किये गये है।


Updated : 2014-04-12T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top