Latest News
Home > Archived > बीस दिन बाद फिर बजी शहनाई

बीस दिन बाद फिर बजी शहनाई

ग्वालियर। देवउठान के बाद सोमवार को सीजन का पहला सहालग होने के कारण शहर में शादी समारोह की धूम रही। शाम होते ही शहर की सड़कों पर बारातों का निकलना प्रारंभ हो गया और देर रात तक यह सिलसिला जारी रहा। देवउठनी एकादशी में शुक्र अस्त होने के कारण विवाह मुहूर्त व मांगलिक कार्य देर से शुरू हुए। 21 नवम्बर को अस्त शुक्र उदय होने के कारण सोमवार से विवाह शुरू हुए। विवाह मुहुर्त होने के कारण शहर के सभी मैरिज गार्डन, होटल, लॉज बुक थे। ज्योतिषाचार्य सतीश सोनी ने बताया कि नवम्बर मेें 25, 28,30 तथा दिसंबर में 1,2,5,6,7,12,13,14, व 15 को विवाह मुहूर्त हैं।

बाजारों में लौटी रौनक
शहर में फिर से शादी-विवाह का सिलसिला शुरू हो चुका है। वहीं सूने पड़े बाजारों में भी अचानक रौनक लौट आई है। इस समय बाजार में खरीदारी करने वाले लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है। सोमवार को शहर के महाराज बाड़ा, मुरार सहित विभिन्न प्रमुख बाजारों में भी काफी भीड़ देखने को मिली। व्यापारी रामू ने बताया कि बीते एक महीने से बाजार में सन्नाटा पसरा हआ था। अब शादी विवाह के आयोजन शुरू होने से फिर से बाजार में ग्राहकी शुरू हुई है।

बारातों से बनी जाम की स्थिति
सोमवार की रात शहर की सड़कों पर निकलने वाली बारातों से जाम के हालात पैदा हो गए। इसका असर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था पर भी पड़ा। सोमवार को शहर के विभिन्न मार्गो पर बने ज्यादातर मैरिज गार्डनों में शादियां थी। मैरिज गार्डन के बाहर सड़कों पर खड़े चार पहिया वाहनों से बार- बार जाम की स्थिति पैदा हुई।

हो रही है आदेशों की अवेहलना
शहर की सड़कों पर बारात के कारण लगने वाले ट्रैफिक जाम पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन ने कठोर कदम उठाने की बात कही थी जिसमें यह तय किया गया था यदि किसी बारात के कारण सड़क पर ट्रैफिक जाम हुआ तो पुलिस दूल्हे के पिता के खिलाफ एफआईआर दर्ज करेगी व मैरिज गार्डन या होटल के बाहर स्वागत-सत्कार के कारण जाम लगने पर संबंधित आयोजक और होटल संचालक पर की जाएगी, लेकिन जिला प्रशासन के आदेशों को धता बताते हुए लगभग सभी मैरिज गार्डनों के बाहर वाहनों की रेलमपेल रही। 

Updated : 2014-11-25T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top