Latest News
Home > Archived > 'मत रोको, आने दो भांजी को'

'मत रोको, आने दो भांजी को'

ग्वालियर। शनिवार को कोटेश्वर पर आयोजित सभा के दौरान जब एक बच्ची ने मामा कहकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आवाज लगाई तो उन्होंने तुरंत ही सुरक्षाकर्मी से कहा कि मेरी भांजी को आने दो उसे मत रोको। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जब सभा को संबोधित कर रहे थे तभी सुरक्षा घेरे के लिए बनाई गई डी के बीच में मंच के पास एक पांच साल की बच्ची पहुंच गई। बच्ची को देखकर सुरक्षा में तैनात जवान जैसे ही उसे हटाने के लिए आगे बढ़े वैसे ही बच्ची ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को मामा कहकर पुकारा। आवाज सुनकर बच्ची को हटाने के लिए आगे बढ़ रहे सुरक्षाकर्मियों को शिवराज सिंह चौहान ने मंच से ही रोक दिया और कहा कि भांजी अपने मामा को नहीं बुलाएंगी तो किसे बुलाएंगी। इसके बाद महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मायासिंह ने बच्ची को गोद में उठाया और उसे मंच पर ले आईं। जहां अपना भाषण खत्म करने के बाद मुख्यमंत्री ने उसे दुलारते हुए अपनी गोद में ले लिया।
महापौर के घर गए मुख्यमंत्री
इमली नाका पर सभा को संबोधित करने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नगर निगम द्वारा मैस्कॉट हास्पीटल के तिराहे पर स्थापित कराई गई प्रतिमा को देखा। इसके बाद महापौर समीक्षा गुप्ता के निवास पर भी गए। कुछ देर वहां रुकने के बाद वह सीधे कोटेश्वर मंदिर पर आयोजित सभा में शामिल होने के लिए निकल गए।

Updated : 2014-11-23T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top