Latest News
Home > Archived > बीच सड़क पर वाहनों की पार्किंग

बीच सड़क पर वाहनों की पार्किंग

शहर में कई व्यावसायिक परिसरों के निर्माण में टाउन प्लानिंग के नियमों की अनदेखी की गई है।

श्योपुर । शहर की मुख्य सड़कों के किनारे व्यावसायिक परिसरों की संख्या बढ़ती जा रही है, लेकिन इनमें से अधिकांश परिसरों के निर्माण में टाउन प्लानिंग के नियमों की अनदेखी की गई है। जिसमें सबसे बड़ी अनियमितता वाहन पार्किंग की व्यवस्था न होना है। एेसे में इन भवनों के सामने सड़क पर वाहनों की पार्र्किंग की जा रही है। जिसके कारण जाम की स्थितियां निर्मित हो रही हैं।
व्यावसायिक परिसरों के सामने पार्किंग के अभाव का दंश सबसे ज्यादा शहर की शिवपुरी रोड, बड़ौदा रोड व पाली रोड, मुख्य बाजार झेल रहे हैं। शहर के इन व्यस्ततम मार्गों के किनारे अधिकांश भवनों के सामने वाहन पार्किंग की व्यवस्था नहीं है। हैरत की बात यह है कि टाउन प्लानिंग के नियमों की अनदेखी कुछ सरकारी भवनों के निर्माण में भी की गई हैै। इसके अलावा कुछ अन्य व्यावसायिक इमारतों के सामने भी वाहन खड़े करने के लिए पर्याप्त स्थान नहीं है। एेसे में इनके सामने सड़कों पर वाहन खड़े किए जाने लगे हैैं।
यहां भी प्रबंध नहीं
तीनों मार्गों के अलावा शहर के मैन बाजार में प्रतिष्ठिानों के सामने और पुरानी कचहरी के इर्द-गिर्द भी वाहन पार्किंग का प्रबंध नहीं है। इसी प्रकार की समस्या शहर में संचालित कई कोचिंग सेंटरों के सामने भी है। वस्तुत: स्थिति यह है कि शहर में बमुश्किल दो-चार भवनों के सामने ही पार्किंग की व्यवस्था की गई है।
ठप हो जाता है आवागमन
व्यावसायिक परिसरों के सामने वाहन पार्किंग का प्रबंध न होने से कई प्रकार की अव्यवस्थाएं फैल रही हैैं। सबसे बड़ी समस्या यातायात बाधित होने की है। आलम यह है कि सड़कों पर वाहन खड़े होने के कारण व्यावसायिक परिसरों के सामने आवागमन अवरुद्ध हो जाता है। खासकर सुबह दस बजे से लेकर शाम पांच बजे तक इन स्थानों के सामने होकर गुजरना मुश्किल होता है। व्यावसायिक परिसरों के सामने वाहन पार्किंग का अभाव कई बार दुर्घटनाआें का कारण भी बनता है। हैरत की बात यह है कि इस अनियमितता की आेर नगर पालिका का ध्यान अभी तक नहीं गया।
नपा प्रशासन गंभीर नहीं
शहर के मुख्य मार्गों सहित बाजार में भवनों का निर्माण करने वाले लोग टाउन प्लानिंग के नियमों को भले ही दरकिनार कर रहे हों, लेकिन इस दिशा में नपा प्रशासन भी गंभीर नहीं है। यहां नपा के अधिकारियों को व्यावसायिक परिसरों के सामने हो रही बेतरतीब वाहन पार्किंग की समस्या का निरीक्षण करने की भी फुर्सत नहीं है।

Updated : 2014-11-21T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top