Top
Home > Archived > दावेदारों ने बढ़ाई सक्रियता, अन्य पिछड़ा वर्ग पुरुष होगा नपाध्यक्ष प्रत्याशी

दावेदारों ने बढ़ाई सक्रियता, अन्य पिछड़ा वर्ग पुरुष होगा नपाध्यक्ष प्रत्याशी

शिवपुरी । शिवपुरी नपा अध्यक्ष पद अन्य पिछड़ा वर्ग पुरुष के लिए आरक्षित होते ही संभावित दावेदारों की सक्रियता बढ़ गई है। वहीं उन दावेदारों को निराश होना पड़ा है जो शिवपुरी नगरपालिका अध्यक्ष का पद सामान्य होने की संभावना संजो रहे थे।
नपा अध्यक्ष पद पर पिछले चार टर्म में से तीन बार भाजपा प्रत्याशी चुनाव जीते जबकि 2004 में निर्दलीय प्रत्याशी जगमोहन सिंह सेंगर ने विजय हासिल की थी। सन् 1994 में अप्रत्यक्ष पद्धति से हुए नगरपालिका चुनाव में सामान्य महिला वर्ग के लिए आरक्षित इस सीट पर भाजपा की श्रीमती राधा गर्ग विजयी रही थीं। सन् 1999 में प्रत्यक्ष पद्धति से हुए चुनाव में भाजपा प्रत्याशी माखनलाल राठौर ने कांग्रेस प्रत्याशी लक्ष्मीनारायण शिवहरे को हराकर विजयश्री हासिल की। लेकिन 2004 में निर्दलीय प्रत्याशी जगमोहन सिंह सेंगर ने भाजपा प्रत्याशी देवेन्द्र जैन और कांग्रेस प्रत्याशी गणेशीलाल जैन को भारी अंतर से पराजित कर दिया था। 2009 में पुन: यह सीट भाजपा की झोली में आई जब भाजपा प्रत्याशी श्रीमती रिशिका अष्ठाना ने लगभग 4000 मतों से कांग्रेस प्रत्याशी श्रीमती आशा गुप्ता को पराजित कर दिया।
इस बार यह तय लग रहा था कि अध्यक्ष पद या तो अनारक्षित रहेगा या फिर अन्य पिछड़ा वर्ग पुरुष या अन्य पिछड़ा वर्ग महिला के खाते में जाएगा। आबादी के हिसाब से अध्यक्ष पद अनुसूचित जाति अथवा अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित नहीं हो सकता था। चूंंकि पिछले चुनाव में सामान्य महिला के लिए आरक्षण हुआ था। इस कारण इस बार अध्यक्ष पद के लिए सामान्य, अन्य पिछड़ा वर्ग पुरुष तथा अन्य पिछड़ा वर्ग महिला की पर्चियां डाली गईं और इन तीन पर्चियों में से अध्यक्ष पद अन्य पिछड़ा वर्ग पुरुष के लिए आरक्षित हो गया।
पिछड़ा वर्ग में भी दावेदारों की संख्या कम नहीं : हालांकि अध्यक्ष पद सामान्य के स्थान पर अन्य पिछड़ा वर्ग पुरुष के लिए आरक्षित हुआ है इस कारण नपाध्यक्ष पद के लिए आकर्षण कुछ कम हुआ है। इसके बाद भी कांग्रेस और भाजपा में संभावित दावेदारों की संख्या कम नहीं है। भाजपा में संभावित दावेदार के रूप में भाजपा के नगर महामंत्री हरिओम राठौर, पूर्व विधायक माखनलाल राठौर, वरिष्ठ नेता अशोक त्यागी बाबा, कृषि उपज मंडी के उपाध्यक्ष कैलाश कुशवाह, संघ से जुड़े लेकिन फिलहाल शासकीय कर्मचारी राजू बाथम,भाजपा कार्यालय मंत्री हरिओम नरवरिया, रामू गुर्जर के नाम सामने आए हैं जबकि कांग्रेस में दावेदारों की संख्या कहीं अधिक है। दावेदारों में नपं कोलारस के पूर्व अध्यक्ष रहे रविन्द्र शिवहरे का नाम एकदम से उभरकर सामने आया है। लगातार दो चुनावों से उनका तथा उनकी पत्नी श्रीमती निशा रविन्द्र शिवहरे का कोलारस नपं पर कब्जा रहा है। कांग्रेस के अन्य संभावित दावेदारों में सेवादल अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह, पार्षद वीरेन्द्र शिवहरे, पार्षद रामसिंह यादव, पूर्व विधायक जगदीश वर्मा के सुपुत्र पप्पन वर्मा, राजेन्द्र शिवहरे, छत्रपाल सिंह गुर्जर के नाम की चर्चाएं हैं।
कोलारस, करैरा, पिछोर, खनियांधाना सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित : शिवपुरी नगर पालिका के अलावा जिले की सात अन्य नगर पंचायतों के अध्यक्ष पद हेतु आरक्षण प्रक्रिया भोपाल के रविन्द्र भवन में हुई। इनमें से कोलारस, करैरा, पिछोर, खनियांधाना सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित हुई। जबकि बदरवास में अनुसूचित जाति महिला वर्ग से अध्यक्ष चुना जाएगा। बैराड़ में पिछड़ा वर्ग महिला और नरवर में सामान्य महिला अध्यक्ष बनेगी।
करैरा में राजनैतिक गतिविधियां तेज : करैरा नगर पंचायत का अध्यक्ष पद सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित होने के बाद यहां राजनैतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं। कई दावेदारों के नाम एकाएक उभरकर सामने आए हैं। नगर पंचायत अध्यक्ष रजनी साहू के पति कोमल साहू ने कहा है कि भाजपा हाईकमान से टिकट की मांग करेंगे। भाजपा के अन्य दावेदारों में वीरेन्द्र साहू, बीके गुप्ता, अरविन्द वेडर, महेन्द्र रावत के नाम प्रमुखता से लिए जा रहे हैं। जबकि कांग्रेस में ब्लॉक अध्यक्ष रवि गोयल, महिला नेत्री दम्यंती मिश्रा, वीनस गोयल संभावित दावेदारों में हैं। दम्यंति मिश्रा के पुत्र पुष्पेन्द्र मिश्रा निर्दलीय रूप से चुनाव मैदान में उतरने का मन बना रहे हैं।

Updated : 2014-10-22T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top