Top
Home > Archived > हाईवे पर उतरे 40 गांवों के किसान, चक्काजाम

हाईवे पर उतरे 40 गांवों के किसान, चक्काजाम


एसडीएम सहित सिंचाई विभाग और बिजली कंपनी के अधिकारी पहुंचे मौके पर, दिया आश्वासन


मुरैना । नहरों में पानी छोडऩे और सुमावली क्षेत्र के गांवों की बिजली सप्लाई बहाल किए जाने की मांगों को लेकर गुरुवार की दोपहर 40 गांवों के किसानों ने हाईवे स्थित सिकरौदा नहर पर धरना प्रदर्शन करते हुए चक्काजाम कर दिया। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस ने तत्काल चक्काजाम को खुलवा दिया, जिससे हाईवे पर यातायात बाधित नहीं हो सका।
भारतीय किसान संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष रामाधार शर्मा, जिलाध्यक्ष राकेश शर्मा के नेतृत्व मेें सुमावली विधानसभा क्षेत्र के 40 गांवों के हजारों किसान गुरुवार की दोपहर करीब 12 बजे हाईवे स्थित सिकरौदा नहर पर एकत्रित हुए, जिसके बाद किसानों ने धरना प्रदर्शन करते हुए चक्काजाम करना शुरू कर दिया। किसानों के प्रदर्शन और चक्काजाम के मद्देनजर मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस के जवान, एसडीएम सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। पुलिस ने चक्काजाम कर रहे प्रदर्शनकारियों को समझा-बुझाकर हाईवे से हटा दिया। जिसके बाद किसानों द्वारा एसडीएम एके कम्ठान, सिंचाई विभाग के कार्यपालन यंत्री आरपी झा, बिजली कंपनी के एसपी दुबे को अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। मौके पर सिंचाई विभाग के ईई श्री झा ने किसानों को आश्वासन दिया कि 15 अक्टूबर तक नहरों में पानी चालू हो जाएगा। तो वहीं बिजली कंपनी के श्री दुबे ने गुरुवार शाम पांच बजे तक बिजली सप्लाई चालू करने का भरोषा दिलाया। एसडीएम श्री कम्ठान ने कहा कि बाजरा की फसल में नुकसान की स्थिति का पता लगाकर सर्वे कार्य कराया जाएगा। जिसके बाद किसानों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया। प्रदर्शन में करीब एक हजार की संख्या में 40 गांवों के किसान शामिल रहे। जिनमें रामाधार शर्मा, सतीश शर्मा, पवन, आशाराम गुर्जर, राकेश शर्मा प्रमुख थे।

Updated : 2014-10-10T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top