Latest News
Home > Archived > भारत ने जिंबाब्वे को दिया 295 रनों का लक्ष्य

भारत ने जिंबाब्वे को दिया 295 रनों का लक्ष्य

भारत ने जिंबाब्वे को दिया 295 रनों का लक्ष्य
X

हरारे | सलामी बल्लेबाजी शिखर धवन के शानदार शतक और दिनेश कार्तिक के साथ उनकी 167 रन की साझेदारी के दम पर भारत ने जिंबाब्वे के खिलाफ दूसरे वनडे मुकाबले में आठ विकेट पर 294 रन बनाए।
धवन ने 127 गेंद में 11 चौकों और दो छक्कों की मदद से 116 रन की अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेली। उन्होंने कार्तिक (69) के साथ उस समय पांचवें विकेट के लिए 25.4 ओवर में 167 रन जोड़े, जब भारत 65 रन पर चार विकेट गंवाकर संकट में था। इन दोनों के अलावा आर विनय कुमार (नाबाद 27) ही उपयोगी योगदान दे पाए।
इससे पहले जिंबाब्वे ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और बायें हाथ के तेज गेंदबाज ब्रायन विटोरी ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करने की पूरी कोशिश की। विटोरी ने अपना सौवां वनडे मैच खेल रहे रोहित शर्मा (1) को मैच के दूसरे ओवर में अपनी पहली गेंद पर ही पवेलियन भेज दिया।
रोहित ने ऑफ साइड से बाहर जाती गेंद को ड्राइव करने की कोशिश में दूसरी स्लिप में वुशी सिबांडा को कैच थमाया। काइल जार्विस के ओवर में धवन भाग्यशाली रहे जब वह स्लिप में कैच दे बैठे, लेकिन यह नोबॉल हो गई। धवन ने इसके बाद इस ओवर में दो चौके मारे। जार्विस का अगला ओवर भी घटना प्रधान रहा। कोहली ने इस तेज गेंदबाज की गेंद को मिडविकेट पर खेलने का प्रयास किया, लेकिन मैल्कम वॉलेर ने कैच लपक किया।
वॉलेर कैच को लेकर सुनिश्चित नहीं थे, इसलिए उन्होंने अंपायर को इशारा करके तीसरे अंपायर से रिव्यू लेने को कहा। रीप्ले में कुछ स्पष्ट नहीं था, लेकिन इसके बावजूद तीसरे अंपायर ने कोहली को आउट दे दिया। कोहली ने मैदानी अंपायर ओवेन चिरोम्बे और ब्रूस आक्सेनफोर्ड के सामने अपना पक्ष रखा, लेकिन भारतीय कप्तान को पवेलियन लौटना पड़ा। उन्होंने 18 गेंद में 14 रन बनाए।
जार्विस की गेंद पर विकेटकीपर ब्रैंडन टेलर ने इसके बाद धवन का आसान कैच टपकाया। धवन इस समय 14 रन बनाकर खेल रहे थे। विटोरी ने अपनी ही गेंद पर अंबाती रायुडू का कैच छोड़ा, लेकिन पिछले मैच में नाबाद अर्धशतक जड़ने वाला यह बल्लेबाज 20 गेंद में सिर्फ पांच रन बनाने के बाद इसी तेज गेंदबाज का शिकार बना। प्रास्पर उत्सेया ने कवर में उनका आसान कैच लपका।
सुरेश रैना एक बार फिर नाकाम रहे और तेंडाई चतारा की गेंद पर विकेटकीपर कप्तान टेलर को कैच दे बैठे। उन्होंने 11 गेंद में चार रन बनाए। धवन और कार्तिक ने इसके बाद पारी को संभाला। दोनों ने शुरू में स्ट्राइक रोटेट करने को तरजीह और 25वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। धवन ने एल्टन चिगुंबुरा पर चौके के साथ 70 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।
भारत ने 33वें ओवर में बल्लेबाजी पॉवर प्ले लिया। धवन ने उत्सेया पर दो चौके मारने के बाद जार्विस पर मिडविकेट के उपर से छक्का भी जड़ा। भारत ने पावर प्ले के पांच ओवर में 39 रन जोड़े। कार्तिक ने उत्सेया पर चौका जड़कर 64 गेंद में अपना सातवां अर्धशतक पूरा किया और फिर इसी ऑफ स्पिनर पर दो चौके के साथ 40वें ओवर में टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया।
धवन ने हैमिल्टन मसाकाद्जा की गेंद एक्सट्रा कवर पर दो रन के लिए खेलकर 115 गेंद में अपना तीसरा वनडे शतक पूरा किया। कार्तिक के रन आउट होने से यह साझेदारी टूटी। चतारा की गेंद को खेलते ही धवन रन के लिए दौड़ पड़े, लेकिन कार्तिक के क्रीज पर पहुंचने से पहले ही टेलर ने सटीक निशाने से स्टंप बिखेर दिए। कार्तिक ने 74 गेंद की अपनी पारी में छह चौके मारे।
धवन भी अगले ओवर में उत्सेया की लेग साइड से बाहर जाती गेंद को विकेटों पर खेलकर पवेलियन लौट गए। अमित मिश्रा (9) और रवींद्र जडेजा (15) भी जल्द पवेलियन लौटे। विनय कुमार ने अंतिम ओवर में सीन विलियम्स पर दो छक्के और चौका जड़ा। अंतिम गेंद पर मोहम्मद समी ने भी छक्का जड़ा जिससे इस ओवर में 23 रन बने। भारत ने अंतिम 15 ओवर में 135 रन बटोरे। जिंबाब्वे की ओर से विटोरी ने आठ ओवर में 27 रन देकर दो विकेट चटकाए।

Updated : 2013-07-26T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top