Latest News
Home > Archived > भाजपा को नहीं दिया कोई अल्टीमेटम : शरद

भाजपा को नहीं दिया कोई अल्टीमेटम : शरद

भाजपा को नहीं दिया कोई अल्टीमेटम : शरद
X

नई दिल्ली। भाजपा-जदयू में तकरार की खबरों के बीच जदयू अध्यक्ष शरद यादव ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि भाजपा को किसी तरह का अल्टीमेटम नहीं दिया गया है। जो भी फैसला होगा वह कल से पटना में शुरू होने वाली दो दिवसीय बैठक में तय होगा। जदयू अध्यक्ष ने कहा कि दोनों पार्टियों के बीच बातचीत चल रही है लेकिन गठबंधन पर लेकर कोई फैसला जदयू की बैठक में लिया जायेगा। कल से पटना में जदयू की दो दिवसीय बैठक शुरू होने जा रही है जिसे दोनों पार्टियों के लिए काफी अहम माना जा रहा है। भाजपा नीतीश को मनाने की कोशिश में जुटी है। जबकि माना जा रहा था कि नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार को लेकर भाजपा को दो दिनों का अल्टीमेटम दिया था लेकिन इसे शरद यादव ने खारिज कर दिया है। कल नीतीश कुमार को मनाने की कोशिश में जुटी भाजपा के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी और उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने दिल्ली में जदयू अध्यक्ष शरद यादव से मुलाकात की थी। हालांकि इस मुलाकात के बाद भी दोनों पार्टियों की ओर से कुछ स्पष्ट बयान अब तक सामने नहीं आया था। कल शरद यादव ने कहा था कि एनडीए अभी बरकरार है और हमारी कोशिश है कि बिगड़ी बात बन जाए।
नरेंद्र मोदी नाम से जदयू पूरी तरह से खफा है। जिसके चलते भाजपा और जदयू के बीच 17 वर्षों से जारी गठबंधन मोदी के सवाल पर टूटता नजर आ रहा है। माना जा रहा है कि नीतीश कुमार किसी भी हाल में मोदी को स्वीकार नहीं करेंगे। नीतीश ने आगामी 17-18 जून को निर्धारित अपनी सेवा यात्रा भी रद्द कर दी है। गौरतलब है कि 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा में जदयू के 118 विधायक हैं और बहुमत के लिए उसे 122 के आंकडे की जरुरत पडेगी। इसके लिए उसे मात्र चार और सदस्यों का समर्थन जुटाना होगा। राज्य में निर्दलीय विधायकों की कुल संख्या छह है। समझा जाता है कि ऐसे में नीतीश कुमार की ओर से निर्दलीय विधायकों से बातचीत कर उन्हें मंत्री पद का आश्वासन देना इसी ओर संकेत करता है कि जदयू ने अपना फैसला लगभग ले लिया है। बस इंतजार है तो दो दिन का।


Updated : 2013-06-14T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top