Top
Home > Archived > हेलीकॉप्टर डील के लिए पीएम, सोनिया भी जिम्मेदार

हेलीकॉप्टर डील के लिए पीएम, सोनिया भी जिम्मेदार

हेलीकॉप्टर डील के लिए पीएम, सोनिया भी जिम्मेदार


नई दिल्ली:
इटली की कंपनी फिनमेकानिका से ऑगस्टा वेस्टलैंड हेलीकॉप्टरों के सौदे में हुए कथित घोटाले को दूसरा बोफोर्स मामला बताते हुए बीजेपी ने सरकार से सवाल किया कि उसने एक साल तक इसकी जांच क्या इसलिए नहीं कराई कि यह कंपनी इटली की है।उसने कहा कि इस मामले में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी जिम्मेदार माना जाना चाहिए। पार्टी इस मुद्दे को संसद और उसके बाहर भी जोरदार ढंग से उठाएगी।राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने कहा, यह बोफोर्स जैसा मामला है। जब रिश्वत देने वाले को पकड़ लिया गया, लेकिन रिश्वत पाने वाले की पहचान नहीं की गई। भारत सरकार कब तक रिश्वत लेने वालों को बचाएगी। बीजेपी इस मामले को संसद में उठाएगी और सरकार से यह बताने की मांग करेगी कि रिश्वत लेने वाले कौन हैं और कौन उन्हें बचा रहा है।वहीं, पार्टी प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने भी सवाल किया, हेलीकॉप्टर सौदे की यहां (भारत) जांच क्यों नहीं हो रही है, जबकि इटली में इस मामले की जांच जारी है? क्या ऐसा इसलिए है कि कंपनी इटली की है? रविशंकर प्रसाद ने कहा, मैं इस घोटाले में दूसरा बोफोर्स घोटाला बनते देख रहा हूं। सरकार यह नहीं बता पाई कि इस मामले की जानकारी होने के बावजूद वह एक साल से चुप्पी क्यों साधे रही? उन्होंने कहा, इस सौदे से कई सवाल खड़े हुए हैं। इटली के एक श्रीमान ओत्तावियो क्वात्रोच्चि हैं, जो बोफोर्स घोटाले में शामिल थे। उन्हें बचाने की कई कोशिशें की गईं। यह हेलीकॉप्टर कंपनी भी इटली की है। क्या यह एक कारण है कि पिछले एक साल से इस मामले की जांच नहीं करवाई गई?
रविशंकर प्रसाद ने कहा, मैं प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी से पूछना चाहता हूं कि इतने सारे घोटाले के साथ वे किस तरह का भारत बनाना चाहते हैं? उन्होंने कहा कि बीजेपी की ओर से एक साल पहले ही यह मामला उठाया गया था, लेकिन तब सरकार ने सीबीआई से जांच करने को क्यों नहीं कहा। इस मामले में संसद को गलत जानकारी देने का रक्षामंत्री एके एंटनी पर आरोप लगाते हुए बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि इस महीने से शुरू हो संसद के बजट सत्र में सरकार की ओर से इस कथित गलतबयानी का स्पष्टीकरण दिया जाना चाहिए।उन्होंने कहा, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भी यह स्पष्टीकरण देना चाहिए कि सरकार के हर विभाग में भ्रष्टाचार क्यों है। दूरसंचार, कोयला या रक्षा हो, हर विभाग में लूट है। पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी के इस खुलासे पर कि सौदे में विवादास्पद बदलाव एनडीए शासन के समय हुए, रविशंकर प्रसाद ने कहा, त्यागी की टिप्पणी को घाव पर नमक के रूप में लेना चाहिए। उनकी भूमिका की जांच होनी चाहिए। कहा जा रहा है कि इसमें उनके रिश्तेदार शामिल हैं। उन्होंने दावा किया कि एनडीए शासन के दौरान कोई हेलीकॉप्टर नहीं खरीदा गया और कोई रिश्वत नहीं ली गई।हेलीकॉप्टर घोटाले की सीबीआई से जांच कराने के सरकार के आदेश पर जेटली ने कहा, सबने देखा है कि इस जांच एजेंसी को कितनी गंभीरता से काम करने दिया जाता है। वह जांच में चीजों को उजागर करने की बजाय, छिपाती ज्यादा है। 

Updated : 2013-02-13T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top