Top
Home > Archived > धोनी का कहा न मानने की सज़ा, ईडन गार्डन्स के चीफ क्यूरेटर की छुट्टी

धोनी का कहा न मानने की सज़ा, ईडन गार्डन्स के चीफ क्यूरेटर की छुट्टी

धोनी का कहा न मानने की सज़ा, ईडन गार्डन्स के चीफ क्यूरेटर की छुट्टी
X


कोलकाता के मशहूर ईडन गार्डन किर्केट ग्राउंड के चीफ क्यूरेटर को हटा दिया गया है. यहां पर भारत-इंग्लैंड श्रंखला का तीसरा टेस्ट 5 दिसंबर से होने वाला है.ईडन गार्डन मैदान के चीफ क्यूरेटर प्रबीर मुखर्जी हैं. प्रबीर से इस पिच को तैयार करने की ज़िम्मेदारी वापस ले ली गई है. सूत्रों से प्राप्त ख़बरों में कहा गया है कि प्रबीर को हटाने के पीछे उनका टीम इंडिया के कप्तान की बात न मानना हैग़ौरतलब है कि कप्तान धोनी ने कोलकाता में होने वाले तीसरे टेस्ट के लिए भी प्रबीर को रैंक टर्नर बनाने के लिए कहा था. लेकिन धोनी की मांग को अनैतिक बताते हुए प्रबीर ने इसे मानने से इंकार कर दिया.

ताज़ा जानकारी के मुताबिक बीसीसीआई ने बुधवार को बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन को एक ई-मेल भेजा जिसमें निर्देश दिया गया था कि ईस्ट ज़ोन केधोनी और टीम प्रबंधन को फिर से स्पिनरों के मददगार विकेट के लिये जोर नहीं देना चाहिए क्योंकि इससे भारतीय बल्लेबाजों के लिये ही परेशानी होगी.

क्यूरेटर आशीष भौमिक को ईडन गार्डन्स का नया चीफ क्यूरेटर नियुक्त किया जाए.

महत्वपूर्ण है कि कप्तान धोनी ने ईडन गार्डन्स की पिच को भी टर्निंग पिच बनाए जाने को कहा था ताकि उस पर स्पिनरों को ज़्यादा मदद मिल सके. इससे पहले धोनी ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारत-इंग्लैंड के बीच दूसरे टेस्ट में भी टर्निंग पिच बनवाई थी. धोनी की मनचाही पिच बनाए जाने के बावजूद मुंबई टेस्ट में भारत को 10 विकेट की शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा.

'धोनी की मांग अनैतिक'
धोनी की मांग को खारिज करते हुए प्रबीर मुखर्जी ने कहा था कि टीम इंडिया के कप्तान को इस तरह की बात सार्वजनिक रूप से नहीं कहनी चाहिए थी. प्रबीर ने कहा कि धोनी का इस तरह की मांग करना अनैतिक है.

प्रबीर ने कहा कि मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम और कोलकाता के ईडन गार्डन्स की पिचें एक जैसी नहीं हो सकतीं. इसका कारण बताते हुए 83 वर्षीय प्रबीर ने कहा कि मुंबई में लाल मिट्टी का इस्तेमाल होता है जबकि कोलकाता में काली मिट्टी का इस्तेमाल किया जाता है. उन्होंने कहा कि मुंबई और कोलकाता के मौसम और वातावरण में बहुत फर्क है. प्रबीर ने पूछा कि जब दोनों जगहों में इतना अंतर है तो फिर दोनों की पिच कैसे एक जैसी हो सकती है.

मालूम हो कि मुंबई टेस्ट खत्म होने के बाद आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने स्पष्ट कर दिया था कि ईडन गार्डन्स में तीसरे टेस्ट में वह किस तरह की पिच चाहते हैं.

गांगुली भी स्पिनर पिच के पक्ष में नहीं
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान पूर्व सौरव गांगुली भी ईडन गार्डन्स में स्पिनर फ्रेडली पिच बनाने के पक्ष में नहीं हैं. धोनी की मांग के बाद गांगुली ने कहा कि
धोनी की मनचाही पिच बनाए जाने के बावजूद मुंबई टेस्ट में भारत को 10 विकेट की शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा.

धोनी को ईडन गार्डन्स में तीसरे टेस्ट मैच के लिए स्पिनरों के मददगार विकेट पर जोर नहीं देना चाहिए. गांगुली ने यह भी कहा कि हरभजन सिंह की जगह पर अशोक डिंडा को अंतिम एकादश में रखा जाना चाहिए था.

उन्होंने कोलकाता में कहा, 'मैं समझता हूं कि धोनी और टीम प्रबंधन को फिर से स्पिनरों के मददगार विकेट के लिये जोर नहीं देना चाहिए क्योंकि इससे भारतीय बल्लेबाजों के लिये ही परेशानी होगी.'

Updated : 2012-11-28T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top