Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > मथुरा > राधाकृष्ण के निश्छल प्रेम की प्रतीक है होली : केशव प्रसाद मौर्य

राधाकृष्ण के निश्छल प्रेम की प्रतीक है होली : केशव प्रसाद मौर्य

राधाकृष्ण के निश्छल प्रेम की प्रतीक है होली : केशव प्रसाद मौर्य

गुरु शरणानंद के आश्रम में उप मुख्यमंत्री ने लिया ब्रज की होली का आनंद

मथुरा। काष्र्णि गुरु शरणानंद महाराज के आश्रम में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जमकर संतों सहित ब्रज की होली का आनंद लिया। उनको संतों ने जमकर रंग लगाए। उन्होंने कहा कि होली राधाकृष्ण के निश्छल प्रेम का प्रतीक है। लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा पुन: केन्द्र में मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनाएंगी।

रविवार को काष्र्णि गुरु शरणानंद महाराज के आश्रम में होली महोत्सव का धूमधाम से आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में भाग लेने आए प्रदेश उपमुख्यमंत्री ने कहा कि ब्रज की होली में राधाकृष्ण का निश्छल प्रेम है। इसी भाव से यहां होली खेली जाती है और इसका आनंद लेने को वे यहां आए हैं। वे यहां संतों सहित होली खेलकर भारी आनंदित दिखाई दिए। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद केन्द्र पर भारी बहुमत से भाजपा की सरकार मोदीजी के नेतृत्व में बनेगी। उन्होंने आश्रम में मौजूद संतों ने जमकर रंग लगाए।

काष्र्णिगुरु शरणानंद महाराज ने अपने अनुयायियों को होली की शुभकामनाएं दी। उपमुख्यमंत्री के आगमन को लेकर आश्रम पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए थे। आश्रम करीब पांच सौ मीटर पहले ही बेरियर लगाकर वाहनों को रोक दिया गया था। सुबह से उनके अनुयायी और आसपास के लोग होली खेलने के लिए आश्रम की तरफ कदम बढ़ाए जा रहे थे। दोपहर तक आश्रम में हजारों लोग जमा हो चुके थे। होली मंच खचाखच भरा हुआ था।

मंच पर चल रहे सांस्कृतिक कार्यक्रमों को देखने के लिए उत्साहित लोग खड़े हुए थे, लेकिन होली नृत्य की झलक हर किसी को देखने के लिए नहीं मिल पा रही थी। आश्रम में बिछी ब्रजरज पर लोग आनंद और उल्लास के साथ होली का आनंद ले रहे थे। कोई ब्रजरज को हवा में उड़ा रहा था तो कोई एक दूसरे के ऊपर डाल रहा था। हर शख्स होली के रंग में रंगा हुआ था।

संत गुरु शरणानंद महाराज ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों में ही राधाकृष्ण स्वरूप के साथ फूलों की होली खेली। ड्रमों में भरे टेसू के फूलों के रंगों की पिचकारी से अनुयायियों और दर्शकों पर बौछार की और सभी रंग से तरबतर हो गए। इसके साथ ही रंगभरी होली का आगाज शुरू हो गया। पूरे आश्रम मे चहुं और होली का धमाल होने लगा। गुरुभाई एक दूसरे के गुलाल, अबीर लगाकर और रंग से भिगों कर होली की शुभकामना दे रहे थे। अयोध्या राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास महाराज, जगद्गुरु रामानंदाचार्य विद्या भास्कर महाराज और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा समेत कई साधु-संत मौजूद है।

Naveen ( 1696 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top