Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > मथुरा > महिला उत्पीड़न प्रकरणों के निस्तारण में शिथिलता न बरतें: रामसखी कठेरिया

महिला उत्पीड़न प्रकरणों के निस्तारण में शिथिलता न बरतें: रामसखी कठेरिया

महिला उत्पीड़न प्रकरणों के निस्तारण में शिथिलता न बरतें: रामसखी कठेरिया

जनसुनवाई के दौरान 8 प्रकरणों को गंभीरता से सुनकर निस्तारण के निर्देश दिये

मथुरा। उप्र राज्य महिला आयोग की सदस्य श्रीमती रामसखी कठेरिया ने बुधवार को लोक निर्माण विभाग निरीक्षण गृह में महिला उत्पीड़न की जनसुनवाई करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार इसे बहुत ही गम्भीरता से ले रही है, इसमें किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

उन्होंने महिला उत्पीड़न संबंधी प्रत्येक आवेदन को गम्भीरता से लेते हुए महिला एवं संबंधित थानाध्यक्षों को प्रभावी कार्यवाही के निर्देश दिये। अधिकतर मामलों में ससुराल पक्ष द्वारा पीड़ित किये जाने संबंधी प्रकरण आये। आज की जनसुनवाई के दौरान कुल 08 पीड़ित महिलाओं द्वारा आवेदन प्रस्तुत किये गये।

उन्होंने बताया कि उप्र राज्य महिला आयोग द्वारा महिला उत्पीड़न की रोकथाम एवं पीडि़त महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाने तथा आवेदिकाओं की सुगमता की दृष्टि से प्रदेश के विभिन्न जनपदों में जनपद के राजकीय गेस्ट हाउस में जिलाधिकारी तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की ओर से नामित वरिष्ठ पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी, महिला थानाध्यक्ष एवं संबंधित थाने के क्षेत्राधिकारियों के साथ जनपद में महिला उत्पीड़न की घटनाओं की समीक्षा/महिला जनसुनवाई कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसमें उन्होंने बताया कि पहले की अपेक्षा अब घरेलू महिला उत्पीड़न के मामलों में गिरावट आ रही है।

जनसुनवाई के दौरान डिप्टी कलेक्टर राजीव उपाध्याय, सीओ सदर रमेश कुमार तिवारी, जिला प्रोबेशन के हिमांशु, महिला आयोग सदस्य के पीए पंकज कुमार, महिला थानाध्यक्ष रूचि त्यागी, उप निरीक्षक आशा चौधरी उपस्थित थे।

Naveen ( 1696 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top