Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > मथुरा > वृंदावन परिक्रमा में लग रही लाइटों में कर दी हेराफेरी, आगरा की कंपनी को नोटिस

वृंदावन परिक्रमा में लग रही लाइटों में कर दी हेराफेरी, आगरा की कंपनी को नोटिस

-ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्रा के निरीक्षण में हुआ खुलासा, तत्काल खराब पोस्ट आफ फिक्सचर को हटाने के आदेश

वृंदावन परिक्रमा में लग रही लाइटों में कर दी हेराफेरी, आगरा की कंपनी को नोटिस

मथुरा। वृंदावन की परिक्रमा मार्ग में लगाई जा रही लाइटों में कार्यदायी कंपनी ने हेराफेरी कर दी। अनुबंध के दौरान लाइट का जो सैंपल दिखाया गया उसके उलट खराब क्वालिटी की लाइटें लगा दी गई है। मामले का खुलाया ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्रा के निरीक्षण में हुआ। नोडल एजेंसी एमवीडीए ने परिक्रमा मार्ग में लगी इन खराब गुणवत्ता की लाइटों को तत्काल हटाने का नोटिस कंपनी को थमा दिया है। इस कार्यवाही के बाद निर्माण दायी एजेंसी में हड़कंप मच गया है।

ब्रज तीर्थ विकास परिषद द्वारा तैयार योजना के तहत वृंदावन की परिक्रमा मार्ग में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए लाइट, सीसीटीवी, स्पीकर लगवाने का काम किया जा रहा है। ये कार्य कुल साढ़े चार करोड़ है, जिसे आगरा की बीपी इलेक्ट्रीकल्स द्वारा करवाया जा रहा है। अनुबंध के दौरान कंपनी ने मार्ग के 270 खंबों पर लगाई जाने वाली एलईडी पोस्ट आॅफ फिक्सचर का जो नमूना दिखाया था उसके विपरीत बेहद घटिया क्वालिटी की लगाई जा रही थी। इस बात का खुलासा ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्रा के निरीक्षण में हुआ।

इसके बाद हरकत में आयी विकास कार्यो की नोडल एजेंसी मथुरा वृंदावन विकास प्राधिकरण के मुख्य अभियंता एसपी सिंह ने कार्यदायी संस्था को तत्काल काम रोककर घटिया क्वालिटी की एलईडी पोस्ट आफ फिक्सचर हटाने के निर्देश दिए गए है। कंपनी को दिए गए नोटिस में 14 अक्टूबर तक नई लाइटों का नमूना को अनुमोदन कराने को कहा गया है। अन्य सामग्री की आपूर्ति इसी प्रक्रिया के बाद स्वीकार करने की बात कही गई है। बहरहाल ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्रा की इस सख्ती के बाद ब्रज में विकास कार्यो को करा रही निर्माण दायी संस्था और ठेकेदारों में हड़कंप मच गया है।

कार्यो की गुणवत्ता पर बेहद सख्त है शैलजाकांत मिश्रा, पहले भी इंजीनियरों पर गिरी थी गाज

मथुरा। ब्रज के विकास में कार्यो की गुणवत्ता को लेकर ब्रज तीर्थ विकास परिषद का रूख सख्त रहा है। इससे पहले जवाहर बाग में चल रहे विकास कार्यो की गुणवत्ता को परखने के लिए उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्रा पहुंचे और घटिया निर्माण सामग्री मिलने पर निर्माण दायी एजेंसी से कार्य छीनकर दूसरी कंपनी को निर्माण की जिम्मेदारी सौंपी। इसके बाद वृंदावन में बन रहे शमसान की दीवार की खराब गुणवत्ता मिलने पर एमवीडीए के तत्कालीन चीफ इंजीनियर सहित दो पर गाज गिरी थी। इस बार लाइटों की खराब गुणवत्ता मिलने पर उसे तत्काल हटाने के आदेश के बाद निर्माण दायी एजेंसी और ठेकेदारों में हड़कंप मचा हुआ है।

स्वदेश मथुरा ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top