Home > राज्य > अन्य > घोटाला : पवार नहीं जाएंगे ईडी ऑफिस, राहुल और शिवसेना पक्ष में उतरे

घोटाला : पवार नहीं जाएंगे ईडी ऑफिस, राहुल और शिवसेना पक्ष में उतरे

मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने कहा है कि वे मुंबई में व्यवस्था बनाए रखने के लिए आज ईडी ऑफिस जाने के कार्यक्रम को स्थगित कर दिया है। मैं मुंबई में शांति बनाए रखने का इच्छुक हूं। मैं तो केवल इसलिए ईडी ऑफिस जाना चाहता था कि मैं कभी बैंक का डायरेक्टर भी नहीं रहा हूं। मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज क्यों की गई है। यह पूछने जा रहा था। आपको बताते जाए कि इससे पहले ईडी कार्यालय ने मेल भेजकर शरद पवार से गुजारिश की थी आप आज ईडी कार्यालय नहीं आएं। शरद पवार के पक्ष में राहुल गांधी और शिवसेना उतर आई है। इससे पहले मुंबई पुलिस ने प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर जाने के तय कार्यक्रम के मद्देनजर बलार्ड पियर स्थित ईडी कार्यालय के बाहर और दक्षिण मुंबई के दूसरे क्षेत्रों में निषेधाज्ञा लागू कर दी है। हालांकि, ईडी ने मामले में शरद पवार या किसी अन्य को अब तक तलब नहीं किया है।

लाइव अपडेट

-शरद पवार घर से बाहर निकलकर पत्रकारों को संबाेधित करते हुए कहा है कि वे ईडी ऑफिस नहीं जाएंगे।

-एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि शरद पवार ईडी दफ्तर जरूर जाएंगे।

- ईडी ने कहा कि शरद पवार को दफ्तर में आने की इजाजत नहीं होगी। प्रवर्तन निदेशालय ने शरद पवार को ई-मेल भेजा है, जिसमें कहा गया है कि वो आज ईडी के दफ्तर ना आएं।

-शरद पवार के समर्थन में एनसीपी कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं।

-शिवसेना नेता संजय राउत अपनी धुर विरोधी पार्टी एनसीपी के प्रमुख शरद पवार के समर्थन में उतरे हैं। मनी लांड्रिंग के आरोपों से घिरे एनसीपी प्रमुख शरद पवार के बारे में उन्होंने कहा है कि उन पर लगे आरोपों पर लोग विश्वास नहीं रखते। उन्होंने कहा कि जो टाइमिंग है, वह भी सोचने वाली है।

-संजय राउत ने पवार को भारतीय राजनीति का भीष्म पितामह बताते हुए कहा कि पूरा महाराष्ट्र जानता है जिस बैंक में घोटाले को लेकर ईडी ने एफआईआर में नाम दर्ज किया है, उस बैंक में शरद पवार किसी भी पद पर नहीं रहे हैं। अन्ना हजारे भी उन्हें क्लीन चिट दे चुके हैं। ईडी उनके साथ ठीक नहीं कर रही है।

-शरद पवार के पक्ष में राहुल गांधी ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा निशाना बनाए जाना गलत है।महाराष्ट्र में चुनाव से एक महीना पहले इस तरह की कार्रवाई राजनीतिक अवसरवाद की पुनरावृत्ति है।

इससे पहले मुंबई पुलिस ने सात थाना क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दी थी। पुलिस ने ट्वीट किया कि कृपया ध्यान में रखें कि सीआरपीसी की धारा 144 के तहत इन इलाकों में निषेधाज्ञा लागू है। 1. कोलाबा थाना, 2. कफे परेड थाना, 3. मरीन ड्राइव थाना, 4. आजाद मैदान थाना, 5. डोंगरी थाना, 6. जेजे मार्ग थान, 7. एमआरए थाना।

ईडी का मामला मुंबई पुलिस की प्राथमिकी पर आधारित है जिसमें बैंक के निदेशकों, राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार और सहकारी बैंक के 70 पूर्व पदाधिकारियों के नाम हैं। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शरद पवार का नाम ईडी की शिकायत में पुलिस एफआईआर के आधार पर शामिल किया गया है। यह मामला इस समय दर्ज किया गया, जब राज्य में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। राज्य में एक चरण में 21 अक्टूबर को विधानसभा की सभी 288 सीटों पर मतदान होगा।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top