Home > राज्य > अन्य > केन्द्र सरकार ने आरबीआई की गरिमा गिराई : ममता

केन्द्र सरकार ने आरबीआई की गरिमा गिराई : ममता

केन्द्र सरकार ने आरबीआई की गरिमा गिराई : ममता

कोलकाता। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की स्थापना दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक तरफ इसके कर्मचारियों को शुभकामनाएं दी हैं तो दूसरी ओर केन्द्र सरकार पर हमला बोला है। ममता ने कहा है कि हाल के दौर में केन्द्र की सरकार ने आरबीआई की गरिमा को नीचे गिराया है।

सोमवार सुबह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट करते हुए लिखा है, आज के दिन 1935 में भारतीय रिजर्व बैंक की स्थापना की गई थी। इस अवसर पर आरबीआई के सभी कर्मचारियों को शुभकामनाएं। हमने हाल के दिनों में देखा है कि इस संस्था की गरिमा कम कैसे हुई। हमें इन संवैधानिक संस्थाओं की पवित्रता को बनाए रखना होगा।

उल्लेखनीय है कि भारतीय रिजर्व बैंक भारत का केन्द्रीय बैंक है। यह भारत के सभी बैंकों का संचालक है। रिजर्व बैक भारत की अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करता है। इसकी स्थापना 01 अप्रैल सन 1935 को रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया ऐक्ट 1934 के अनुसार हुई। भारतीय रिजर्व बैंक की स्थापना हिल्टन यंग कमीशन के द्वारा की गई थी। सन 1926 में यह कमीशन भारत में रॉयल कमीशन ऑन इंडियन करेंसी एंड फिनांस के नाम से आया था, तब इसके सभी सदस्यों से बाबासाहेब ने लिखे हुए ग्रंथ दी प्राब्लम ऑफ दी रुपी - इट्स ओरीजन एंड इट्स सोल्यूशन (रुपया की समस्या - इसके मूल और इसके समाधान) की जोरदार वकालात की, उसकी पृष्टि की। ब्रिटिशों की वैधानिक सभा (लेसिजलेटिव असेम्बली) ने इसे कानून का स्वरूप देते हुए भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम 1934 का नाम दिया गया। प्रारम्भ में इसका केन्द्रीय कार्यालय कोलकाता में था जो सन 1937 में मुम्बई आ गया। पहले यह एक निजी बैंक था, किन्तु सन 1949 से यह भारत सरकार का उपक्रम बन गया है। शक्तिकांत दास भारतीय रिजर्व बैंक के वर्तमान गवर्नर हैं, जिन्होंने 11 दिसम्बर 2018 को पदभार ग्रहण किया। पूरे भारत में रिज़र्व बैंक के कुल 22 क्षेत्रीय कार्यालय हैं जिनमें से अधिकांश राज्यों की राजधानियों में स्थित हैं। मुद्रा परिचालन एवं काले धन की दोषपूर्ण अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करने के लिये रिज़र्व बैंक ऑफ इण्डिया ने 31 मार्च 2014 तक सन् 2005 से पूर्व जारी किये गये सभी सरकारी नोटों को वापस लेने का निर्णय लिया था।

Tags:    

Swadesh Digital ( 9454 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top