Home > खेल > मंधाना और बोपन्ना को दिया गया अर्जुन अवॉर्ड

मंधाना और बोपन्ना को दिया गया अर्जुन अवॉर्ड

मंधाना और बोपन्ना को दिया गया अर्जुन अवॉर्ड

नई दिल्ली। केंद्रीय खेल मंत्री किरन रिजिजू ने मंगलवार को स्टार महिला क्रिकेटर स्मृति मंधाना और टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना को अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया। 1961 में इस अवॉर्ड को पहले बार दिया गया था। इस पुरस्कार में 5,00,000 रुपये कैश दिया जाता है साथ ही अर्जुन की प्रतीकात्मक ट्रॉफी और सर्टिफिकेट दिया जाता है।

स्मृति मंधाना ने महिला क्रिकेट टीम के लिए कई यादगार पारियां खेली हैं। महिला हो या पुरुष वो टी-20 इंटरनेशनल में सबसे कम उम्र की भारतीय कप्तान हैं। मंधाना ने 22 साल 229 दिन की उम्र में टी-20 इंटरनेशनल में टीम इंडिया की कप्तानी संभाली। वो इसी साल फरवरी में दुनिया की नंबर 1 वनडे बल्लेबाज बनी थीं।

मंधाना साल 2018 की शुरुआत से ही वनडे में शानदार प्रदर्शन कर रही हैं। मंधाना ने पिछले साल 12 एकदिवसीय मैचों में 669 रन और 25 टी 20 में 622 रन बनाए थे। वहीं एशियन गेम्स 2018 में टेनिस पुरुष डबल्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले रोहन बोपन्ना ने इस दौरान कहा, 'अर्जुन पुरस्कार विजेता के तौर पर पहचान बनाना मेरे लिए गर्व की बात है। मैं इस पुरस्कार को प्राप्त करके बहुत खुश हूं।'

वहीं मंधाना पिछले सीजन में शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद अपने खेल में लगातार सुधार करके उसे अधिक दमदार बनाना चाहती हैं। बेंगलुरू में राष्ट्रीय क्रिकेट एकैडमी में फिटनेस शिविर में समय बिताने के बाद मंधाना अब अपनी बल्लेबाजी पर काम कर रही हैं। मंधाना ने मंगलवार को अर्जुन पुरस्कार हासिल करने के बाद कहा, 'फिटनेस शिविर अच्छा रहा। आखिरकार हमें एक-दो साल बाद एक महीने के आराम का समय मिला। फिटनेस शिविर में आकर वापसी करना अच्छा रहा। ये हमारे लिए बहुत जरूरी था क्योंकि अगले आठ महीने काफी व्यस्त हैं और उसके लिये हमें शारीरिक रूप से तैयार रहना होगा।'

अपनी बल्लेबाजी के बारे में उन्होंने कहा, 'मैं और कोच रमन सर मेरे खेल के बारे में काफी चर्चा कर रहे हैं। मैं कैसे टी20 क्रिकेट में निरंतर अच्छा प्रदर्शन करने वाली खिलाड़ी बन सकती हूं, कैसे मैं अपने खेल में अधिक 'पावर जोड़ सकती हूं। मुझे अब भी लगता है कि इस मोर्चे पर मुझे सुधार करने की जरूरत है।' मंधाना ने कहा, 'आपको सुधार करते रहना होगा कि क्योंकि अन्य टीमें भी आप पर निगाह रख रही है। मैं नए शॉट जोड़ने पर नहीं बल्कि मैं उसी लेंथ की गेंद को अलग अलग स्थानों पर खेलने पर ध्यान दे रही हूं।'



Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top