Home > धर्म > जीवन-मंत्र > इस बार गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण का साया, बन रहा ये संयोग

इस बार गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण का साया, बन रहा ये संयोग

इस बार गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण का साया, बन रहा ये संयोग

नई दिल्ली। आषाढ़ शुक्ल की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा का विशेष पर्व मनाया जाता है। इस बार गुरु पूर्णिमा 16 जुलाई यानी मंगलवार को मनाई जाएगी। भारतीय संस्कृति में गुरु को देवता तुल्य माना गया है। इस बार चंद्र ग्रहण और गुरु पूर्णिमा पर्व एक साथ होगा। गुरु पूर्णिमा पर यह लगातार दूसरे वर्ष चंद्रग्रहण लग रह है। वहीं, 16 जुलाई यानी मंगलवार को चंद्र ग्रहण रात 1:31 से शुरू होकर 17 जुलाई सुबह 4:31 बजे तक रहेगा।

इस क्रम में चंद्र ग्रहण के नौ घंटे पूर्व 16 जुलाई को सूतक लगने के कारण शाम 4:30 से मंदिरों के कपाट बंद हो जाएंगे। बता दें कि पिछली साल भी गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण पड़ा था। पिछले साल 27 जुलाई को गुरु पूर्णिमा पर ही खग्रास चंद्रग्रहण था। पहले इस ग्रहण की अवधि 3 घंटे 51 मिनट थी।

इस वर्ष 16 और 17 जुलाई को 149 साल बाद गुरु पूर्णिमा पर चन्द्रग्रहण का साया रहेगा। 16 जुलाई को दोपहर डेढ़ बजे ग्रहण का सूतककाल शुरू होगा। श्रद्धालु डेढ़ बजे से पूर्व ही गुरु की पूजा-अर्चना कर पाएंगे। यह ग्रहण भारत में दिखाई देगा।

ज्योतिष शास्त्रियों के अनुसार, 149 साल पहले यानि 12 और 13 जुलाई, 1870 को ऐसा हुआ था जब गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक साथ पड़े थे। उस समय चंद्रमा शनि, राहु और केतु के साथ धनु राशि में था। साथ ही सूर्य और राहु एक साथ मिथुन राशि में प्रवेश कर गए थे।

इस बार भी 2019 में यह चंद्र ग्रहण आषाढ़ मास की पूर्णिमा यानि गुरु पूर्णिमा के दिन लगने जा रहा है। गुरु पूर्णिमा के दिन लगने वाला यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई देगा। भारत के अलावा एशिया, यूरोप, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका में दिखाई देगा।

ज्योतिष के अनुसार, 1870 यानि डेढ़ सदी के बाद गुरु पूर्णिमा पर चन्द्रग्रहण का योग पड़ रहा है। तीन साल की अवधि वाले चन्द्रग्रहण का विभिन्न राशियों के जातकों पर अच्छा तो किसी राशि पर मिश्रित प्रभाव पड़ेगा। गुरु पूर्णिमा पर शिष्यों को सूतककाल लगने से पहले ही गुरुओं की पूजा कर आशीर्वाद लेना शुभ होगा।

ज्योतिष के अनुसार, हिन्दू पंचांग के अनुसार बताया कि 16 जुलाई की रात 1:31 बजे से ग्रहण आरंभ होगा। जिसका मोक्ष 17 जुलाई की सुबह 4:31 बजे होगा। यानि इस चंद्र ग्रहण की पूरी अवधि कुल 3 घंटे की होगी। बताया कि 16-17 जुलाई को लगने वाला चंद्र ग्रहण उत्तराषाढ़ा नक्षत्र और धनु राशि में लगेगा।

राशि पर क्या होगा असर...

-मेष, सिंह, वृश्चिक और मीन राशि पर चन्द्रग्रहण का अच्छा असर पड़ेगा।

-मिथुन, तुला, मकर और कुंभ राशि पर ठीक प्रभाव नहीं रहेगा।

-वृषभ, कर्क, धनु और कन्या पर चन्द्रग्रहण का प्रभाव मिश्रित रहेगा।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top