Home > धर्म > जीवन-मंत्र > वसंत पंचमी के दिन करें माँ सरस्वती की वंदना

वसंत पंचमी के दिन करें माँ सरस्वती की वंदना

वसंत पंचमी के दिन करें माँ सरस्वती की वंदना

नई दिल्ली। वसंत पंचमी का दिन मां सरस्वती की पूजा का विशेष दिन माना जाता है और मां सरस्वती ही बुद्धि और विद्या की देवी हैं। मान्यता है कि जिस छात्र पर मां सरस्वती की कृपा हो उसकी बुद्धि बाकी छात्रों से अलग और बहुत ही प्रखर होती है। ऐसे छात्र को कोई भी विद्या आसानी से प्राप्त हो जाती है। इस दिन आप शुभ मुहूर्त में मां सरस्वती की पूजा कर सकते है और मां सरस्वती की स्तुति कर सकते है। इस दौरान सरस्वती स्तोत्रम का पाठ किया जाता है।

वसंत पंचमी शुभ मुहूर्त

वसंत पंचमी पूजा मुहूर्त: सुबह 6.40 बजे से दोपहर 12.12 बजे तक

पंचमी तिथि प्रारंभ: मघ शुक्ल पंचमी शनिवार 9 फरवरी की दोपहर 12.25 बजे से शुरू

पंचमी तिथि समाप्त: रविवार 10 फरवरी को दोपहर 2.08 बजे तक

सरस्वती वंदना

या कुन्देन्दु-तुषारहार-धवला या शुभ्र-वस्त्रावृता

या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना।

या ब्रह्माच्युत शंकर-प्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता

सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥

शुद्धां ब्रह्मविचार सारपरम- माद्यां जगद्व्यापिनीं

वीणा-पुस्तक-धारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम्‌।

हस्ते स्फटिकमालिकां विदधतीं पद्मासने संस्थिताम्‌

वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम्‌॥

Tags:    

Swadesh Digital ( 10031 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top