Home > धर्म > जीवन-मंत्र > स्वप्न और उनके फल, जानें

स्वप्न और उनके फल, जानें

स्वप्न और उनके फल, जानें

नई दिल्ली। हर किसी को सपने आते हैं और इन सपनों की अपनी एक अलग दुनिया होती है। सपनों की अपनी एक अलग दुनिया होती है जिसे आज तक कोई समझ नहीं पाया है। हिंदू मान्यता और के अनुसार हर सपने का एक विशेष फल अवश्य होता है। सपने हमें भविष्य में होने वाली अच्छी-बुरी घटनाओं के बारे में पहले से ही सूचित कर देते हैं लेकिन हम उन संकेतों को समझ नहीं पाते। प्राचीन धर्म ग्रंथ जैसे वाल्मीकि रामायण, अग्निपुराण, भविष्यपुराण एवं सामुद्रिक शास्त्र में सपनों के माध्यम से भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में जानने का वर्णन मिलता है। स्वप्न जगत बहुत ही रोमाचक होता है। कुछ समय पहले तक जहां यह विषय पुराण, इतिहास व ज्योतिष तक ही सीमित था, किन्तु आज यह मनोविज्ञान, चिकित्सा विज्ञान आदि में भी शोध का विषय बना हुआ है। आज हम आपको कुछ सामान्य सपनों तथा भविष्य में उनसे संबंधित होने वाली घटनाओं के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

स्वप्न और उनके फल

1- घोड़े से गिरना- व्यापार में हानि होना

2- आंधी-तूफान देखना- यात्रा में कष्ट होना

3- दर्पण में चेहरा देखना- किसी स्त्री से प्रेम बढऩा

4- ऊँचाई से गिरना- परेशानी आना

5- बगीचा देखना- खुश होना

6- बारिश होते देखना-घर में अनाज की कमी

7- सिर के कटे बाल देखना- कर्ज से छुटकारा

8- बर्फ देखना- मौसमी बीमारी होना

9- अंगूठी पहनना- सुंदर स्त्री प्राप्त करना

10- आकाश में उडऩा- लंबी यात्रा करना

11- आकाश से गिरना- संकट में फंसना

12- आम खाना-धन प्राप्त होना

13- अनार का रस पीना- प्रचुर धन प्राप्त होना

14- ऊँट को देखना- धन लाभ

15- ऊँट की सवारी- रोगग्रस्त होना

16- सूर्य देखना- खास व्यक्ति से मुलाकात

17- आकाश में बादल देखना- जल्दी तरक्की होना

18- घोड़े पर चढऩा- व्यापार में उन्नति होना

19- बांसुरी बजाना- परेशान होना

20- स्वयं को बीमार देखना- जीवन में कष्ट

21- बाल बिखरे हुए देखना- धन की हानि

22- सुअर देखना- शत्रुता और स्वास्थ्य संबंधी समस्या

23- बिस्तर देखना- धन लाभ और दीर्घायु होना

24- बुलबुल देखना- विद्वान व्यक्ति से मुलाकात

25- भैंस देखना- किसी मुसीबत में फंसना

26- बादाम खाना- धन की प्राप्ति

27- अंडे खाना- पुत्र प्राप्ति

28- स्वयं के सफेद बाल देखना- आयु बढ़ेगी

29- बिच्छू देखना- प्रतिष्ठा प्राप्त होगी

30- पहाड़ पर चढऩा- उन्नति मिलेगी

31- स्वयं को दिवालिया घोषित करना- व्यवसाय चौपट होना

32- चिडिय़ा को रोते देखता- धन-संपत्ति नष्ट होना

33- चावल देखना- किसी से शत्रुता समाप्त होना

34- चांदी देखना- धन लाभ होना

35- दलदल देखना- चिंताएं बढऩा

36- कैंची देखना- घर में कलह होना

37- सुपारी देखना- रोग से मुक्ति

38- लाठी देखना- यश बढऩा

39- खाली बैलगाड़ी देखना- नुकसान होना

40- खेत में पके गेहूं देखना- धन लाभ होना

Tags:    

Swadesh Digital ( 8067 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top